मंडी पुलिस का कारनामा; दहेज के लिए मारी गई बेटी के बाप को पुलिस ने बोला, तू नही बताएगा क्या कार्यवाही करनी है


RIGHT NEWS INDIA


हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले स्थित सरकाघाट से इज एक खबर सामने आई एक विवाहित युवती ने फंदा लगाकर सुसाइड कर लिया। वहीं, इस मामले में लड़की के पिता ने अपने दामाद और ससुराल पक्ष के लूगों पर आरोप जड़ते हुए कहा कि वो मेरी बेटी को दहेज के लिए शारीरिक व मानसिक तौर से प्रताड़ित करते थे और इस वजह से उसने फंदा लगाकर अपनी जान दे दी। इस मामले में गौर करने वाली बात ये है कि मृत लड़की की शादी अभी एक महीने पहले ही हुई थी और दहेज़ के भूखे इन भेड़ियों ने उसे प्रताड़ित कर जान देने को मजबूर कर दिया। वहीं, अब इस मामले में एक और नया मोड़ आया है। दरअसल, लड़की के पिता से पुलिस ने बददसलूकी की है और आरोप लगा है कि पुलिस कर्मी ने पीड़ित पिता से गालीलौज भी की है। पुलिस की कार्रवाई का एक वीडियो सामने आया है।

तू नहीं बताएगा कि क्या कार्रवाई करनी है

इस वीडियो में पुलिस कर्मियों पर पिता आरोप लगा रहे हैं कि पुलिस कर्मी ने उनके साथ बदसलूकी की और गाली-गलौज भी की। साथ ही कहा कि तू नहीं बताएगा कि क्या कार्रवाई करनी है। पिता ने कहा कि अगर पुलिस कार्रवाई नहीं करती है तो वह एसपी मंडी से शिकायत करेंगे। हालांकि, पुलिस और परिजनो के आने से पहले ही लड़की के शव को पंखे से उतर दिया गया था। मामले में पति और सास को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। 

वहीं, इस पूरे मसले को लेकर डीएसपी सरकाघाट चंद्रपाल सिंह का कहना है कि मौके पर परिजनों ने पुलिस पर बदतमीजी के आरोप लगाए थे और हमने उनसे इसकी लिखित में शिकायत देने को भी कहा था। लेकिन अभी तक इस संदर्भ में कोई लिखित शिकायत नहीं आई है और प्रारंभिक जांच में पुलिस की कोई बदतमीजी की बात भी सामने नहीं आई है। यदि शिकायत आती है तो फिर उसपर नियमानुसार कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। 

बेटी ने पिता को फोन पर सुनाया था दुखड़ा 

मिली जानकारी के अनुसार युवती की शादी रिवालसर के पास टिक्कर के कणा गांव से हुई थी। अब लड़की ने सुसाइड कर लिया है। वहीं, इस पूरे मामले में ससुरालियों के घर पर तनाव हो गया था। परिजनों का कहना था कि वह ससुरालियों के आंगन में बेटी का अंतिम संस्कार कर देंगे। पुलिस से बातचीत के बाद भी परिजन नहीं माने थे। लेकिन बाद में जिला परिषद सदस्य चंद्रमोहन शर्मा की मध्यस्ता के बाद परिजन माने और बेटी का अंतिम संस्कार किया गया।

युवती के पिता दौलत राम बिजली बोर्ड में कार्यरत हैं। उनकी पांच बेटियां और एक बेटा है। पिता ने पुलिस को दिए बयान में कहा कि शादी के बाद उनकी बेटी ने उन्हें फोन कर बताया कि दामाद बोल रहा है कि देहज में वॉशिंग मशीन नहीं दी। इस पर उन्होंने अगले ही दिन रिवालसर से मशीन खरीद कर बेटी के घर भेज दी। 

इसके बाद में जब बेटी-दामाद उनके घर आए तो बेटी ने बताया कि साल बोल रही है कि तुम्हारी सभी बहनों के पति के पास अपनी-अपनी गाड़ियां हैं, तो तुम भी अपने पिता से कहो कि वह तुम्हें गाड़ी लेकर दें। इतना ही नहीं पिता ने बयान में कहा कि सास ने बेटी से कहा था कि शादी के दौरान एक पैर छुने वाली रस्म के वक्त सास को कोई गहना नहीं दिया गया। बता दें कि युवती का आरोपी पति फौज में कार्यरत है।


Advertise with US: +1 (470) 977-6808 (WhatsApp Only)


Please Share this news:
error: Content is protected !!