हनी ट्रैप; लड़की ने कुल्लू के युवक से नग्न वीडियो कॉल के बाद पैसों की मांग, लाहौल स्पीति के युवक से ठगे 13 हजार

हनी ट्रैप गिरोह देश के विभिन्न हिस्सों में बैठकर अपना जाल बिछाए हुए हैं। गिरोह में लड़कियां भी शामिल हैं। ये गिरोह लोगों व युवाओं को व्हाट्सएप व फेसबुक मैसेंजर पर संदेश भेजकर फांस रहे हैं। इनके द्वारा भेजे गए संदेश को पढ़कर लोगों को ऐसा लग रहा है कि सामने से कोई लड़की उनसे दोस्ती करना चाह रही है। फेसबुक पर लोगों द्वारा अपलोड की गई पोस्टों से गिरोह अंदाजा लगा रहे हैं कि व्यक्ति के पास कितना पैसा हो सकता है। फेसबुक पर फ्रैंड रिक्वैस्ट भेजकर भी पहले लोगों को दोस्त बनाया जा रहा है और फिर उन्हें जाल में फंसाकर लूटा जा रहा है। कुल्लू और लाहौल में ऐसे गिरोहों ने कई लोगों को लूटा है। लोकलाज के चलते ऐसे लूटे हुए लोग न तो पुलिस के पास शिकायत करने गए और न ही उन्होंने साइबर सैल के समक्ष अपना पक्ष रखा। 

पार्वती घाटी के ढाबा चलाने वाले एक युवक ने बताया कि उसे किसी लड़की ने पहले फेसबुक पर अपना दोस्त बनाया, फिर उसका व्हाट्सएप नंबर मांगा, उसके बाद वीडियो कॉल भी आने लगी। दूसरी तरफ से लड़की ने जब युवक को कहा कि वह नग्नावस्था में उसके साथ वीडियो चैट करे। युवक ने ऐसा ही किया और दूसरी तरफ से लड़की ने भी यही किया। करीब 7 मिनट की वीडियो चैट के बाद लड़की के तेवर बदल गए और उसने युवक को कहा कि वह भेजे गए बैंक खाता नंबर में एक लाख रुपए डाल दे। ऐसा न करने पर उसके अश्लील वीडियो को वायरल किया जाएगा।

युवक ने जब पैसे नहीं डाले तो लड़की ने उसका ही अश्लील वीडियो फेसबुक पर उसे टैग कर दिया। इसी प्रकार लाहौल के एक युवक के साथ भी ऐसा ही हुआ। लाहौल के इस युवक ने गिरोह में शामिल इस लड़की द्वारा बताए गए बैंक खाते में 13 हजार रुपए डालकर अपना पीछा छुड़ाया। इसी प्रकार और भी कई लोगों को ऐसे गिरोहों ने लूटा है। लोकलाज के कारण ये लोग पुलिस के पास नहीं गए और कइयों ने गिरोह को पैसे देकर जैसे-तैसे बचाव तो किया लेकिन अब भी भरोसा नहीं है कि उन्हें पैसों के लिए अगला फोन कब आ जाए। 

क्या है हनी 

हनी ट्रैप शब्द 2 शब्दों को जोड़कर बना हुआ है। हनी का अर्थ हुआ शहद और ट्रैप का अर्थ है जाल। पहले शातिर कोई ऐसा झांसा देते हैं जिसमें व्यक्ति आनंद महसूस करे, उसके बाद उसे जाल में फंसाकर लूटा जाता है। कुल्लू में भी पुलिस ने ऐसे ही हनी ट्रैप गिरोह के कई शातिरों को जेल में पहुंचाया हुआ है। इस गिरोह ने भी गिरोह में शामिल लड़कियों की आड़ में कई लोग लूटे। 

कुल्लू एसपी गौरव सिंह ने बताया कि ऐसी स्थिति में यदि कोई फंस जाए तो उन्हें तुरंत पुलिस के पास शिकायत करनी चाहिए। पुलिस का साइबर सैल ऐसे मामलों में शिकायत पर तुरंत कार्रवाई करता है। कई प्रकार के ऑनलाइन फ्रॉड में पुलिस ने अब तक देश के विभिन्न राज्यों में बैठे ठगों को दबोचा है और लोगों से ठगे गए पैसे भी उन्हें वापस दिलाए हैं, ऐसे मामलों में शिकायत करने में देरी नहीं करनी चाहिए। शिकायत में देरी होने के कारण ठगों को फ्रॉड करके हड़पी गई राशि को इधर से उधर करने का मौका मिल जाता है। तुरंत शिकायत होगी तो पुलिस उस बैंक खाते को ही फ्रीज करवा देती है जिस बैंक खाते में ठगी गई धनराशि गई होगी। 


error: Content is protected !!