एक सप्ताह से गायब मास्टर का नही लगा कोई सुराग, भाजपा मंत्री पर लगा आरोपियों को बचाने का आरोप

हिमाचल की पुलिस कितनी चौकस है इस बात का पता इस बात से ही चल जाता है कि ज्वालामुखी के अधवानी गांव से एक वरिष्ठ नागरिक लापता है और आज एक सप्ताह बीत जाने पर भी पुलिस के हाथ खाली है। जानकारी के मुताबिक एक सप्ताह पहले अधवानी गांव से प्रकाश जग्गी नाम का व्यक्ति सुबह चार बजे घूमने गया, लेकिन घर वापिस नही आया। जब सुबह तक व्यक्ति वापिस नही आया तो परिजनों ने ज्वालामुखी थाने में शिकायत दर्ज करवाई, पुलिस मौके पर आई लेकिन आज तक पुलिस के हाथ प्रकाश जग्गी का कोई सुराग नही लगा। परिजनों का कहना है कि वह रोज घूमने जाते थे और लगभग 40 मिनट घूम कर वापिस आ जाते थे। लेकिन उस दिन वह वापिस नही आए जिसके चलते उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई थी।

ज्वालामुखी पुलिस की कार्यप्रणाली संदिग्ध
परिजनों का आरोप है कि पुलिस की कार्यवाही संदिग्ध है। परिजनों के मुताबिक प्रकाश जग्गी की पत्नी पर एक सप्ताह पहले तीन लड़कों ने कार से हमला किया था। लड़कों ने चलती कार से प्रकाश जग्गी की पत्नी के फोटो और वीडियो क्लिक करने की कोशिश की, जब उन्होंने कार को रोकने की कोशिश की तो लड़कों ने उन पर कार चढ़ाने की कोशिश की थी। जब उन्होंने लड़कों को पकड़ा तो लड़के मोबाइल फ़ोन छोड़ भाग गए। इसके बाद महिला ने लड़कों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करवाई और पुलिस को बताया कि लड़को का मोबाइल फ़ोन उनके पास है। इसके बाबजूद पुलिस ने आरोपी लड़कों की ओर से महिला और और उसके बेटे पर रास्ता रोकने के लिए एफआईआर दर्ज कर दी और आज दिन तक उस मामले में कोई सख्त कार्यवाही नही हुई।

भाजपा मंत्री पर लगे अपराधियों को बचाने का आरोप
आज प्रकाश जग्गी के परिजनों ने आरोप लगाए है कि पुलिस केवल नाम मात्र की जांच कर रही है। जानकारी के मुताबिक परिजनों ने प्रकाश जग्गी के अपहरण की शिकायत दर्ज करवाई है और बाकायदा छह लोगों के नाम पुलिस को दिए है। पुलिस ने आज तक उन लोगों को गिरफ्तार नही किया है। इस मामले में पुलिस की कार्यवाही को देखते हुए अब परिजनों ने आज एक वीडियो जारी करते हुए भाजपा मंत्री पर अपराधियों को बचाने के आरोप लगाए है। उनका कहना है कि कुछ लोग आरोपियों की ओर उनके घर आए थे और उन्होंने कहा था कि उनका कोई कुछ नही बिगाड़ सकता। वीडियो के माध्यम से परिजनों ने मुख्यमंत्री हिमाचल प्रदेश से इस मामले में सही से कार्यवाही करवाने और आरोपियों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्यवाही करने की मांग की है। परिजनों का कहना है कि अगर इस मामले में आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही नही हुई और प्रकाश जग्गी को नही ढूंढा गया तो वह जल्दी धरने पर बैठेंगे।

परिजनों ने की एक लाख रुपये की इनाम की घोषणा
जानकारी के मुताबिक उपरोक्त अपहरण मामले में परिवार वालों ने प्रकाश जग्गी की खबर देने वालों के लिए एक लाख के इनाम की घोषणा की है। उन्होंने कहा है कि पुलिस और प्रशासन की ओर कोई सही से कार्यवाही नही होने के चलते उन्होंने यह घोषणा की है ताकि स्थानीय लोग उनकी मदद करें और प्रकाष जग्गी को ढूंढा जा सके।

error: Content is protected !!