हिमाचल में हर बच्चे को ऑनलाइन क्लास से जोड़ने के लिए स्मार्टफोन देगी सरकार

हिमाचल के सरकारी स्कूलों का कोई भी विद्यार्थी अब आनलाइन पढ़ाई से वंचित नहीं रहेगा। जिन विद्यार्थियों के पास स्मार्ट फोन नहीं हैं, उन्हें सरकार खुद मुहैया करवाएगी। समग्र शिक्षा अभियान इसके लिए डोनेट डिवाइस कार्यक्रम शुरू करेगा। ई-पीटीएम के समापन पर शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने यह घोषणा की। गोविंद ठाकुर ने कहा कि ‘हर घर पाठशाला’ कार्यक्रम के तहत बच्चों को आनलाइन पढ़ाया जा रहा है। शिक्षक बच्चों की कक्षाएं भी लेते हैं। आनलाइन पढ़ाई में ज्यादा सुधार करने व रोचक बनाने के लिए शिक्षकों को रिफ्रेशर कोर्स करवाया जाएगा।

इसके लिए जल्द ही दिशा निर्देश जारी कर दिए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि ई-पीटीएम में पढ़ाई को ज्यादा बेहतर बनाने का सुझाव आया है। उन्होंने कहा कि सभी विद्यार्थियों को प्रिंटेड वर्कशीट मुहैया करवाई जाएगी। वर्कशीट प्रिंट करवाने के आर्डर दे दिए हैं। समग्र शिक्षा अभियान ने वाट्सएप के लिए यूनिक आइडी तैयार की है। इसके तहत विद्यार्थियों को अब एक ही नंबर से जोड़ा जाएगा। शिक्षकों के रिसोर्स ग्रुप तैयार किए जा रहे हैं, ताकि ज्यादा सिलेबस के ई- कंटेंट बनाए जा सकें।

समग्र शिक्षा अभियान के राज्य परियोजना निदेशक वीरेंद्र शर्मा ने बताया कि ई-पीटीएम के माध्यम से 12962 स्कूलों तक पहुंचा गया है। इसके अलावा छह लाख 77 हजार बच्चों और दो लाख 94 हजार अभिभावकों के साथ जुड़ा गया है। इस दौरान शिक्षा मंत्री ने कहा कि कोविड ड्यूटी में लगे शिक्षकों के साथ बाद भी आनलाइन बातचीत की जाएगी। 4000 शिक्षक कोविड वैक्सीनेशन, रजिस्ट्रेशन, होम आइसोलेशन में ड्यूटी दे रहे हैं।


Please Share this news:
error: Content is protected !!