छात्रवृत्ति घोटाला; अरविंद राज्टा की संपत्ति होगी सीज, प्रशासन ने ईडी को भेजा ब्यौरा

बहुचर्चित छात्रवृत्ति घोटाले में फंसे शिक्षा विभाग के अधीक्षक अरविंद राज्टा की मुश्किलें अब और बढ़ गई हैं। शिमला जिले प्रशासन ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को राज्टा की संपत्तियों का ब्योरा भेज दिया है। इस ब्योरे के मिलने के बाद अब निदेशालय उसकी अवैध रूप से खड़ी की गई चल-अचल संपत्तियों को जब्त करने की कार्रवाई शुरू कर देगा।

दरअसल, राज्टा सीबीआई की अब तक की जांच में मुख्य आरोपी बनकर सामने आया है। जांच में पता चला है कि राज्टा ने करोड़ों रुपये की छात्रवृत्ति को डायवर्ट कर शेल कंपनियों के जरिये विभिन्न जगहों पर निवेश कर दिया। इसमें कई जगह संपत्तियां खड़ी करना भी शामिल हैं। इसी जानकारी को सीबीआई ने प्रवर्तन निदेशालय से साझा किया था, जिसके बाद से निदेशालय धन शोधन के एंगल से मामले की जांच कर रहा था।

फरवरी में निदेशालय ने शिमला जिला प्रशासन से राज्टा की संपत्तियों का ब्योरा मांगा था। इसमें उसके और परिवार के अन्य सदस्यों के नाम दर्ज संपत्तियों की जानकारी शामिल थी। अब जानकारी मिलने के बाद निदेशालय उसकी अवैध संपत्तियों की जांच कर रहा है और जल्द जब्त कर सकता है।

Get news delivered directly to your inbox.

Join 61,615 other subscribers

error: Content is protected !!