उपायुक्त ने जारी किया कांगड़ा का नया मैप, पर्यटकों और प्रशासनिक दृष्टि से होगा सुविधाजनक

उपायुक्त राकेश प्रजापति ने जिला कांगड़ा मैप की लांचिंग की है। यह मैप प्रशासनिक दृष्टि तथा पर्यटकों के लिए भी काफी कारगर साबित होगा। इस मैप को कृषि विश्वविद्यालय के सेंटर फॉर जियो इंर्फमेटिव द्वारा जिला प्रशासन के मागदर्शन में तैयार किया गया है। इससे पहले 10 वर्ष पहले तत्कालीन उपायुक्त आर.एस. गुप्ता द्वारा जिला कांगड़ा का मैप तैयार करवाया गया था। यह जानकारी देते हुए ए.डी.सी. राहुल कुमार ने बताया कि जिला कांगड़ा के इस मैप में 2010 के बाद नवगठित पंचायतों, नगर निगमों, नगर पंचायतों, नगर परिषदों के बारे में अपडेट जानकारी दी गई है जिसमें कांगड़ा जिला के 14 उपमंडलों, पंद्रह विकास खंडों, 2 नगर निगमों, 5 नगर परिषदों, 3 नगर पंचायतों और 814 पंचायतों को बाउंड्री सहित प्रदर्शित किया गया इसके साथ ही जिला के प्रमुख मंदिरों, आर्ट एंड कल्चर, हेरिटेज जगहों, मोनट्रीस, पर्यटक स्थलों के बारे में भी जानकारी दी गई है। उन्होंने बताया कि विधानसभा क्षेत्रों, तहसील, ब्लॉक की सीमाओं को भी प्रदर्शित किया गया है।

उन्होंने कहा कि किसी भी जिला का मैप प्रशासनिक दृष्टि से अत्यंत महत्वपूर्ण होता है इसके माध्यम से अधिकारियों को अपने अपने संबंधित क्षेत्रों में कार्य करने तथा भूगौलिक परिस्थितियों के आधार पर कार्यों की प्लानिंग करने में भी अहम मदद मिलती है। उन्होंने कहा कि कांगड़ा जिला पर्यटन की दृष्टि से अत्यंत महत्वपूर्ण जिला है। इसी को ध्यान में रखते हुए कांगड़ा जिला के प्रमुख पर्यटन स्थलों, तीर्थ स्थलों को भी मैप में प्रदर्शित किया गया है ताकि यह मैप पर्यटकों के लिए भी कारगर सिद्ध हो सके। इसके साथ ही देश विदेश में कांगड़ा जिला शिक्षा हब के रूप में भी उभर कर सामने आया है। इस मैप में कांगड़ा जिला के प्रमुख शिक्षण संस्थानों को भी प्रदर्शित किया गया है। उन्होंने कहा कि कांगड़ा जिला मैप की तर्ज पर ही ब्लॉक तथा तहसील स्तर के मैप भी तैयार करवाए जा रहे हैं तथा शीघ्र की इसकी भी लांचिंग की जाएगी तथा सरकारी कार्यालयों सहित आम जनमानस और जनप्रतिनिधियों को भी उपलब्ध करवाया जाएगा।

Get news delivered directly to your inbox.

Join 61,626 other subscribers

error: Content is protected !!