ऑनलाइन पढाई से छोटे बच्चों की आंखों पर नज़र का असर- बालक राम शर्मा

नेताजी सुभाष चन्द्र बोस द्वारा स्थापित पार्टी ऑल इण्डिया फारबर्ड बलाॅक के सचिव व प्रदेश प्रवक्ता और हिमाचल प्रदेश भूतपूर्व सैनिक कल्याण एवं विकास समिति के अध्यक्ष कैप्टन बालक राम शर्मा रिटायर्ड ने पत्रकार वार्ता में कहा कि आज़ कोरोना महामारी के संकट में बच्चों की पढाई पर बहुत गहरा अस़र पड़ा है जो पढ़ाई स्कुल में होती है वह पढ़ाई और वह अनुशासन नहीं मिलता जो बच्चा स्कुल के माहौल में सीखता है अनुशासन में रहना पढ़ना बोलना बहुत कुछ जल्दी सिखता है परन्तु कोरोना महामारी से बचने के लिए बच्चों की पढ़ाई ऑनलाइन करवाई जा रही है परन्तु इसका सीधा-सीधा अस़र बच्चों की आंखों पर पड़ रहा है बच्चों की आंख के रेटिना पर अस़र होने से बहुत से बच्चों को चश्मा लगा कर पढ़ाई करवाई जा रही है बच्चों के अभिभावक कह रहे हैं कि लगातार बच्चे ऑनलाइन पढें गें तो बच्चों की आंखें ज्यादा प्रभावित होगी जिससे बच्चे की नज़र को नुक्सान हो सकता है इस के कई अभिभावक चिंता करने लगे हैं ऑनलाइन पढाई से छोटे बच्चों को गलत फोटो और फिल्मी फोटो बिडीओ देखते हैं जिससे बच्चे बुरी आदतों के शिकार हो रहे हैं यह चिंता का विषय बन गया है।

प्रदेश प्रवक्ता बालक राम शर्मा ने कहा कि हम सरकार से मांग करतें हैं कि लाॅकडाऊन के लिए सोच समझकर निर्णय लें और बच्चों के भविष्य के बारे में सोचा जाये क्योंकि देश की भविष्य भी बच्चे ही हैं आज़ हमें बच्चों की पढ़ाई को ऑनलाइन रखने के लिए गंभीरता से विचार करने की जरूरत है ये बच्चों के भविष्य का सवाल है तथा अभिभावकों को अब ये चिंता सताने लगी है इसके बारे में जरूर कोई समाधान निकालने की जरूरत है ताकि बच्चों को आंखों का ख़तरा और भविष्य की पढ़ाई ठीक कर सके ताकि आने वाले कल का भविष्य आज़ का बच्चा ही है इस पर गौर करें।

error: Content is protected !!