बीएसएनल का सिग्नल गुल, जंगल में पढ़ाई करने के लिए मजबूर हैं बच्चे

हिमाचल प्रदेश के शिमला जिले के कोटखाई की गरावग पंचायत में बीएसएनएल पिछले दस दिनों से गुल है। इस वजह से क्षेत्र के सैकड़ों बच्चों के लिए ऑनलाइन पढ़ाई करना मुश्किल हो गया है। मजबूरी में अभिभावक बच्चों को ऊंचे स्थानों पर सिग्नल की उपलब्धता को देखते हुए जंगल में पढ़ाई करवाने को मजबूर है। ग्राम पंचायत गरावग के अंतर्गत जौणी, गरे, गरावग, शाऊं, शोशन, गंडुवा, कदेवली, महोली, कुड़ी और चेवर गांव में बीते दस दिनों से यह समस्या चली आ रही है।

लोगों का कहना है कि बीएसएनएल सिग्नल गांव में आसपास कहीं पर भी नहीं है। इस वजह से बच्चों की ऑनलाइन लगने वाली कक्षाओं की वजह से वह परेशान है। मजबूरी में अभिभावकों को बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई के लिए सिग्नल की तलाश में गांव से दूर जंगल में जाना पड़ता है। यहां पर उन्हें मोबाइल में सिग्नल मिलते हैं। गांव के बच्चे अभिभावकों के साथ यहां इकट्ठे होकर बच्चों की पढ़ाई करवा रहे हैं।

पंचायत निवासी जोगिंद्र सिंह, पवन चौहान, साहिल धरना, विक्रम, मनोज, अक्षय, श्यामलाल और अशोक चौहान ने बताया कि सिग्नल नहीं होने से बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। एसडीएम सौरभ जस्सल ने बताया कि बीएसएनएल अधिकारी को इस बारे में अवगत करवाया जाएगा। जिससे की जनता की समस्या का जल्द समाधान हो सके। 

error: Content is protected !!