सोशल मीडिया और मीडिया की नजरों से दुर, गुमनाम फरिश्ते की तरह अनिल कटोच कर रहे है लोगो की मदद


जॉनी खान, बैजनाथ। उपमंडल बैजनाथ के महाकाल गांव से संबंध रखने वाले गवर्नमेंट कांट्रेक्टर व नवनिर्वाचित जिला परिषद अनिल कटोच (नीटू ) बैजनाथ के लिए एक मिसाल साबित हो रहे हैं। जहां इस कोविड जैसी महामारी के चलते अनेकों सामाजिक संस्थाएं और सामाजिक लोग अखबारों की सुर्खियों में आ रहे है। वही यह एक ऐसा शख्स है जो लगातार अपनी सेवाएं देता आ रहा है, लेकिन ना तो यह आज तक समाचार पत्रों और टीवी पर दिखा और ना ही कभी यह जताने की कोशिश की वह समाज सेवा में अपना कितना बड़ा योगदान दे रहे हैं। लेकिन आज  इतनी बड़ी  सामग्री भेंट करने के बाबजूद भी जिला परिषद अनिल कटोच (नीटू) ना तो अखबारों की सुर्खियों का हिस्सा बनना चाहते है और ना ही सोशल मीडिया का।

लेकिन आज हमारे आग्रह करने पर जब वह बैजनाथ के एसडीएम को कोविड-19 संबंधित सामान समर्पित कर रहे थे। तब उन्होंने हमारे साथ एक फोटो साझा की और उन्होंने माना की जरूरी नहीं है कि हम लोगों को यह दिखाएं कि हम किस को क्या दे रहे हैं। बल्कि ऐसा करने से और लोग भी प्रेरित होंगे और करोना के इस काल में प्रत्येक व्यक्ति किसी न किसी सहायता में अपना योगदान दें।

बैजनाथ  क्षेत्र के रहने वाले अनिल कटोच उर्फ नीटू ने आज 500 किट इस कोविड जैसी महामारी के चलते उपमंडल बैजनाथ में कार्यरत एसडीएम धर्मेश रामोत्रा को भेंट की। महाकाल के रहने वाले जिला परिषद अनिल कटोच (नीटू) ने, इस कोविड जैसी महामारी में अपनी तरफ से अनेकों सहयोग अपनी आजीविका से ही समाज के हर व्यक्ति तक पहुंचा रहे है। वही अगर कोई व्यक्ति अपने क्षेत्र का या अन्य क्षेत्र का इस महामारी का शिकार हो जाता है तो उसके लिए भी ये अपना पूर्ण सहयोग दे रहे है। यह ना केवल अपने चुनावी क्षेत्र में बल्कि उपमंडल बैजनाथ में जहां कही भी लोग बुलाते या इन्हें कोई सूचना मिलती है। वही जाकर हर एक सुविधा चाहे वह सैनाटाइजर की बात हो या किसी क्षेत्र में राशन और दवाईयो को पहुंचाने का कार्य हो वहा यह अपना पूर्ण रूप और निष्पक्ष भाव से सहयोग दे रहे है। वही अगर कोई व्यक्ति महाकाल या साथ लगते गांव के इस महामारी का शिकार भी हो जाता है तो उसकी अंतिम यात्रा और उसके अंतिम संस्कार तक अपना पूरा सहयोग दे रहे हैं। अपने क्षेत्र के गांव को इस कोविड जैसी महामारी के चलते व अन्य क्षेत्र का भी सहयोग कर रहे है।

तो वही नीटू ने बताया कि इस सेवा भाव में वह अकेले नहीं बल्कि उनके कुछ सहयोगी भी उनकी टीम बन कर काम कर रहे हैं। जैसे मृतक के लिए लकड़ियां काटना एवं सामान आदि का प्रबंध करना, हर काम के लिए वह व उनकी टीम लगातार अपनी सेवाएं देने में हर प्रयास कर रही है। उन्होंने मीडिया के माध्यम से लोगों से अपील की है कि यदि किसी व्यक्ति को या किसी परिवार को दवाई एवं राशन सामग्री की जरूरत पड़ती है तो वह मुझ से संपर्क कर सकते है।

error: Content is protected !!