हिमाचल के कोमिक में 45 साल के ऊपर के सभी लोगों का टीकाकरण कर बनाया रिकॉर्ड

देश में 1 अप्रैल से 45 साल या उससे अधिक उम्र के सभी लोगों के लिए कोरोना के खिलाफ टीकाकरण शुरू हो चुका है। वहीं 1 मई से 18 से अधिक के लिए वैक्सीनेशन का तीसरा चरण शुरू किया गया। जिसके बाद अबतक 18.70 करोड़ से अधिक वैक्‍सीन की डोज देशभर में लगाई जा चुकी है। वहीं हिमाचल प्रदेश के गांव कोमिक में 45 साल से ऊपर के सभी लोगों को अब तक वैक्सीन लग चुकी है। ये गांव हिमाचल में 4,587 मीटर की ऊंचाई पर बसा है। अधिकारियों ने इस बात की जानकारी दी।

मिली जानकारी के अनुसार, कॉमिक हिमाचल के अन्य गांव में सबसे बड़ा गांव है। यहां की आबादी 330 के करीब है इनमें से 101 (60 वर्ष से अधिक आयु) और 150 (45 से अधिक) को टीका लगाया गया है।

वहीं हिमाचल प्रदेश की पंचायत में 89% स्वास्थ्य देखभाल कार्यकर्ता और 60 वर्ष से अधिक आयु के 79% लोगों को पूरी तरह से टीका लगाया गया है। वहीं 45 से अधिक आयु वर्ग की 95% आबादी को एक खुराक मिली है।

टीकाकरण के लिए ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू

हिमाचल में काज़ा ब्लॉक के अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट ज्ञान सागर नेगी का कहना है कि राज्य सरकार से इस महीने टीकाकरण के लिए ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू की अनुमति देने का अनुरोध किया गया था, और बाद में इसकी अनुमति भी दी गई। अब टीकाकरण के लिए 80% रजिस्ट्रेशन ऑफलाइन किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग को कॉल करके बुकिंग की जाती है और लॉटरी के आधार पर स्लॉट बांटे जाते हैं। लाहौल और स्पीति के उपायुक्त पंकज राय का कहना है कि 20% रजिस्ट्रेशन अभी भी ऑनलाइन किया जा रहा है, लेकिन सभी को टीकाकरण के लिए पहले रजिस्ट्रेशन कराना होगा। 31,564 की आबादी वाले जिले में गुरुवार शाम तक 12,387 वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है।

18 प्लस के लिए 218 वैक्सीनेशन सेंटर स्थापित

वहीं 18 से 44 उम्र के लोगों की वैक्सीनेशन की अगर बात करें तो राज्य में 18 प्लस के लिए 218 वैक्सीनेशन सेंटर स्थापित किए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि जो लोग वैक्सीन लगवाने चाहते हैं वो रजिस्ट्रेशन करा के अपॉइंटमेंट बुक कर ले। अब तक कुल 21,820 लोगों ने वैक्सीन के लिए स्लॉट बुक कर लिया है।

वहीं हिमाचल प्रदेश में भी ब्लैक फंगस ने दस्तक दे दी है। राज्य में ब्लैक फंगस के पहले मामले का पता चला है, जिसे म्यूकरमाइकोसिस के नाम से भी जाना जाता है। अधिकारियों ने गुरुवार को इसकी जानकारी दी। इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल (आईजीएमसी) के वरिष्ठ चिकित्सा अधीक्षक डॉ जनक राज ने बताया कि प्रदेश के हमीरपुर जिले के खगर की रहने वाली एक महिला में म्यूकरमाइकोसिस का पता चला है।

error: Content is protected !!