ऊना में बिजली विभाग का कारनामा, चाय की दुकान का बिल दिया 55 लाख

हिमाचल के ऊना जिला में एक चाय की दुकान चलाने वाले व्यक्ति को बिजली बोर्ड ने करीब 55 लाख रुपए का बिल थमा दिया है। एक छोटी सी चाय की दुकान का इतना बड़ा बिल देखकर जहां एक तरफ दुकानदार के होश फाख्ता हो गए, वहीं जिस जिस को भी चाय की दुकान का इतना भारी भरकम बिल आने की सूचना मिल रही है, वो भी हैरानी में पड़ रहे है। वहीं खुद बिजली बोर्ड के अधिकारियों को भी इस बिल को लेकर शर्मसार होना पड़ रहा है। फिलहाल बिजली बोर्ड के अधिकारियों ने इसे लिपिकीय गलती मानते हुए बिल के आंकड़ों को दुरुस्त करने की बात कही है, लेकिन चाय की दुकान चलाने वाले नरेश कुमार का इतना बड़ा बिजली बिल जिला भर में चर्चाओं का केंद्र बन गया है।

वहीं खुद बिजली बोर्ड के अधिकारियों को भी इस बिल को लेकर शर्मसार होना पड़ रहा है। फिलहाल बिजली बोर्ड के अधिकारियों ने इसे लिपिकीय गलती मानते हुए बिल के आंकड़ों को दुरुस्त करने की बात कही है, लेकिन चाय की दुकान चलाने वाले नरेश कुमार का इतना बड़ा बिजली बिल जिला भर में चर्चाओं का केंद्र बन गया है। मामला जिला ऊना के हरोली में सामने आया है।

दरअसल जिला के हरोली में उपमंडल मुख्यालय स्थित एसडीएम ऑफिस के ठीक सामने चाय की छोटी सी दुकान चलाने वाले दुकानदार का बिजली बिल 55 लाख रुपये से भी ज्यादा का आया है। बताया जा रहा है कि कुछ दिन पूर्व चाय की दुकान चलाने वाले नरेश कुमार को बिजली बोर्ड द्वारा करीब 4 महीने का बिल 6702 रुपये दिया गया था। बिल जमा ना करवाने के चलते बिजली विभाग द्वारा दुकान की बिजली काट दी गई और शनिवार को जब नरेश कुमार ने बिल के भुगतान को ऑनलाइन करने के लिए पोर्टल से ही पेमेंट करने का फैसला लिया, तो पोर्टल पर बिजली का बिल देखकर उनके होश फाख्ता हो गए। ऑनलाइन पोर्टल पर नरेश कुमार को 5514945 रुपए का बिल अदा करने के लिए कहा गया। जिसे देखकर दुकानदार सन्न रह गया। उसने तुरंत अपने सहयोगी को बिजली बोर्ड के कार्यालय भेजा और बोर्ड के अधिकारियों को इससे अवगत कराया। वहीं, बिजली विभाग के सहायक अभियंता होशियार सिंह ने कहा कि लिपिकीय गलती के चलते नरेश कुमार के बिजली बिल में दिक्कत आई है, जिसे जल्द दुरुस्त किया जाएगा।

Get news delivered directly to your inbox.

Join 61,626 other subscribers

error: Content is protected !!