हिमाचल की दो प्रतिशत आबादी को हो चुका है कोरोना, लोगों से लक्षण दिखने पर टेस्ट करवाने की अपील

देश के साथ-साथ कोरोना संक्रमण की प्रदेश में भी रफ्तार तेज हो गई है। हर रोज हिमाचल में चार हजार से अधिक लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है। अब तक प्रदेश की करीब दो प्रतिशत आबादी वायरस की चपेट में आ चुकी है। वहीं दो प्रतिशत में से डेढ़ फीसदी मरीजों ने महमारी से जंग जीत ली है।

2011 की जनगणना को आधार मानें तो हिमाचल में करीब 68.6 लाख की आबादी में से एक लाख 35 हजार के अधिक लोग कोराना वायरस से ग्रसित हो चुके हैं। वहीं 99 हजार के अधिक लोग इस वायरस को मात देने में सफल भी रहे हैं। इसके साथ ही 1.35 लाख संक्रमित मरीजों में से 1925 की मौत दर्ज की गई है, यानी 1.40 प्रतिशत मरीज इस महामारी के कारण दम तोड़ चुके हैं।

वहीं 25 प्रतिशत संक्रमित मरीज अभी भी वायरस से जंग लड़ रहे हैं। अगर बात कोरोना टेस्टिंग की करें तो सूबे में अभी तक 16.5 लाख लोगों की जांच की जा चुकी है, जिसमें से 1.35 लाख लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। यानी हर 100 लोगों में से आठ की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है।

लक्षणों को न छुपाएं, समय पर टेस्ट करवाएं
बहुत से लोग कोरोना के लक्षण बुखार, खांसी, जुकाम, सिर दर्द और सांस लेने में दिक्कत होने को नजरअंदाज करते हुए नीम-हकीमों से परामर्श लेते हैं और मेडिकल स्टोर से दवाई ले लेते हैं। इसके उपरांत तबीयत बिगड़ने पर यह लोग अस्पताल आते हैं, जिसकी वजह से बिगड़ी हुई बीमारी वाले लोगों को बचाना मुश्किल हो जाता है। इन लक्षणों को न छुपाए और अस्पताल जाकर परामर्श लें। समय पर टेस्ट करवाएं। – डॉ. गुरदर्शन गुप्ता, सीएमओ कांगड़ा।

error: Content is protected !!