सोनी म्यूजिक के कॉपीराइट के उल्लंघन के कारण बंद हुआ था रवि शंकर का ट्विटर एकाउंट

Read Time:6 Minute, 57 Second

Delhi News: नए आईटी नियमों को लेकर भारत सरकार के साथ अपने बिगड़ते रिश्तों के बीच ट्विटर ने शुक्रवार को अमेरिकी कॉपीराइट कानून (डीएमसीए) के कथित उल्लंघन को लेकर सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद के अकाउंट को करीब एक घंटे तक बंद कर दिया। हालांकि, ऐसा क्यों हुआ, इसकी असली वजह अब सामने आ गई है। म्यूजिक डायरेक्टर ए. आर रहमान का गाना ‘मां तुझे सलाम’ और सोनी म्यूजिक की वजह से रविशंकर प्रसाद का ट्विटर अकाउंट कुछ समय के लिए लॉक हुआ। किसी केंद्रीय मंत्री के खाते पर इस तरह से रोक लगाने का यह पहला मामला है।

डीएमसीए नोटिस की मानें तो ट्विटर ने रविशंकर प्रसाद के जिस ट्वीट पर एक्शन लिया है, वह ट्वीट 2017 का है। लुमेन डेटाबेस दस्तावेज के मुताबिक, डीएमसीए संबंधी नोटिस 24 मई, 2021 को भेजा गया और ट्विटर को 25 जून, 2021 को मिला। लुमेन डेटाबेस एक स्वतंत्र अनुसंधान परियोजना है, जिसके तहत ट्विटर द्वारा अपनी साइट पर रोक लगायी जानी वाली सामग्री सहित अन्य का अध्ययन किया जाता है।

सूत्रों की मानें तो रविशंकर प्रसाद के ट्विटर पर संबंधित पोस्ट में 1971 के युद्ध की विजय वर्षगांठ के मौके पर भारतीय सेना को श्रद्धांजलि देते हुए एक वीडियो डाला गया था। वीडियो के बैकग्राउंड में ए. आर रहमान का एक गाना ‘मां तुझे सलाम’ बज रहा था। इस गाने का कॉपीराइट सोनी म्यूजिक के पास है। बताया जा रहा है कि सोनी म्यूजिक ने इस गाने पर कॉपी राइट का दावा किया और ट्विटर की नजर में इस पोस्ट को कथित रूप से कॉपीराइट नियमों का उल्लंघन माना गया है। 

ट्विटर के एक्शन के बाद मंत्री रविशंकर प्रसाद ने अमेरिकी सोशल नेटवर्किंग कंपनी के इस कदम की आलोचना करते हुए इसे मनमाना रवैया और आईटी नियमों का घोर उल्लंघन बताया। उन्होंने यह भी कहा कि माइक्रोब्लॉगिंग साइट ने नये आईटी नियमों का उल्लंघन किया है जिसके तहत मध्यस्थ के लिए खाते तक पहुंच को रोकने से पहले उपयोगकर्ता को नोटिस देना जरूरी है। हालांकि, ट्विटर ने कहा कि उसने प्रसाद के खाते पर लगी रोक हटा ली है लेकिन उस ट्वीट को अपने पास रोक लिया जिसको लेकर रोक लगाई गई। 

करीब एक घंटे बाद खाते पर लगी रोक हटा ली गयी लेकिन साथ ही चेतावनी दी गयी कि खाते के खिलाफ कोई अतिरिक्त नोटिस आने की स्थिति में उसे फिर से बंद किया जा सकता है या निलंबित किया जा सकता है। ट्विटर को आड़े हाथ लेते हुए प्रसाद ने एक अन्य घरेलू सोशल मीडिया मंच कू पर लिखा कि ट्विटर की “निरंकुश और मनमानी कार्रवाइयों” को लेकर उन्होंने जो टिप्पणियां कीं उससे माइक्रोब्लॉगिंग साइट की झल्लाहट साफ दि्ख रही है।

रविशंकर प्रसाद की टिप्पणी के बाद कांग्रेस नेता शशि थरुर ने भी ट्विटर पर लिखा कि उनके साथ भी ऐसा ही कुछ हुआ। उन्होंने लिखा, “रविजी मेरे साथ भी ऐसा ही कुछ ऐसा ही हुआ था। साफ तौर पर डीएमसीए अतिसक्रिय हो रहा है। ट्विटर ने मेरा यह ट्वीट इसलिए हटा दिया क्योंकि उसके वीडियो में बोनीएम कॉपीराइट किया हुआ गाना ‘रासपुतिन’ था। थरुर ने कहा कि सूचना प्रौद्योगिकी पर संसद की स्थायी समिति के अध्यक्ष के तौर पर मैं कह सकता हूं कि हम प्रसाद और मेरे खाते को कुछ समय के लिए बंद करने के लिए और ट्विटर के भारत में काम करते हुए नियमों एवं प्रकियाओं का पालन करने को लेकर ट्विटर इंडिया से स्पष्टीकरण मांगेंगे।”

रविशंकर प्रसाद ने कहा, ‘दोस्तों! आज कुछ बहुत ही अनूठा हुआ। ट्विटर ने अमेरिका के डिजिटल मिलेनियम कॉपीराइट अधिनियम के कथित उल्लंघन के आधार पर लगभग एक घंटे तक मेरे खाते तक पहुंच को रोका और बाद में उन्होंने मुझे खाते के उपयोग की मंजूरी दी।’ उन्होंने बाद में ट्विटर पर भी पोस्ट डाला। आईटी मंत्री के ट्विटर खाते को ऐसे समय बाधित किया गया, जब अमेरिका की दिग्गज डिजिटल कंपनी का नए सोशल मीडिया नियमों को लेकर भारत सरकार के साथ विवाद चल रहा है।

गौरतलब है कि सरकार ने जानबूझकर अवज्ञा करने और देश के नए आईटी नियमों का पालन करने में विफल रहने को लेकर ट्विटर को फटकार लगाई है। इसके कारण माइक्रोब्लॉगिंग मंच ने भारत में अपनी मध्यस्थ की स्थिति खो दी। ऐसे में किसी भी गैरकानूनी सामग्री को पोस्ट करने वाले उपयोगकर्ताओं के लिए वह स्वयं जवाबदेह होगी।

Get delivered directly to your inbox.

Join 876 other subscribers

error: Content is protected !!
Hi !
You can Send your news to us by WhatsApp
Send News!