हिमाचल प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप राठौर ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर नगर निगम चुनावों में हार से बौखलाए हुए हैं। खीज मिटाने के लिए अमर्यादित भाषा बोलकर कांग्रेस नेताओं पर बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं। आरोप लगाने के बजाय मुख्यमंत्री सरकार की कार्यप्रणाली को सुधारने का प्रयास करें।  शनिवार को कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन शिमला में प्रेस वार्ता में कुलदीप राठौर ने कहा कि नगर निगम सोलन और पालमपुर में भाजपा को करारी हार का सामना करना पड़ा है।

धर्मशाला में भाजपा ने जोड़-तोड़ कर नगर निगम को हथियाया है। सोलन में भी भाजपा की अंतिम समय तक यही कोशिश थी, जिसे कांग्रेस ने सफल नहीं होने दिया। प्रदेश में भाजपा पूरी तरह भ्रष्टाचार में डूबी है। इसी वजह से उनके अध्यक्ष तक को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा। जयराम सरकार के इस साढ़े तीन साल के कार्यकाल में घोटाले ही हुए हैं। राठौर ने प्रदेश में बढ़ते कोरोना मामलों पर भी चिंता जताई। कहा कि सरकार के पास कोरोना की रोकथाम के लिए न कोई ठोस उपाय है और न ही कोई कार्यक्रम। उन्होंने सरकार से सर्वदलीय बैठक बुलाने की मांग की। कहा कि अगर इस बीमारी से प्रदेश में हालात बिगड़ते हैं तो कांग्रेस को सड़कों पर उतरना पड़ सकता है।

गाड़ियों के रजिस्ट्रेशन मामले की हो जांच
 राठौर ने बाहरी लोगों की करोड़ों की गाड़ियों की रजिस्ट्रेशन प्रदेश में करवाने पर हैरानी जताई। कहा कि प्रदेश में भाजपा सरकार के संरक्षण में एक बड़ा गिरोह काम कर रहा है। उन्होंने इस मामले की जांच और इस बारे में श्वेतपत्र जारी करने की मांग की। उन्होंने पूछा कि अब तक प्रदेश में बाहरी लोगों की कितनी गाड़ियां रजिस्टर हुई हैं? किन लोगों ने इसमें अपना सहयोग दिया है? इससे प्रदेश का करोड़ों के राजस्व का नुकसान हुआ है।

error: Content is protected !!