पीड़िता के परिवार वालों ने बताया कि कि आरोपी दूसरे वर्ग के हैं। चार घंटे तक फैसले का दबाव बनाते रहे। बताया कि उन्हें धमकी दी गई कि बदनामी हो जाएगी। साथ ही इसको तीन साल के लिए जेल जाना पड़ेगा, क्योंकि हम पुलिस से कह देंगे कि झूठा आरोप लगा रही है। इसके अलावा पैसे का भी लालच दिया गया।

गढ़ विधायक तक मामला पहुंचा तो उनका प्रतिनिधि राजदीप थाने पहुंचा, जहां पर मोहित गुप्ता, नगर अध्यक्ष अंकुर त्यागी, सोनू दिनेश गर्ग, सोनू आढ़ती कैलाशी, विक्रम सिंह आदि एकत्र हो गए। इस दौरान पीड़िता के पिता ने बताया कि आरोपी पक्ष के गांव से फोन आया है कि फैसला कर लो, आरोपियों के गधे पर काला मुंह करके गांव में घुमा देंगे, लेकिन भाजपा नेता बोले कि कोई फैसला नहीं बल्कि आरोपियों पर कार्रवाई ही होगी।

By

error: Content is protected !!