पश्चिम बंगाल से लौटकर किसान नेता राकेश टिकैत ने रीवा में किसानों को संबोधित किया है। इस दौरान उन्होंने मोदी सरकार पर जमकर हमला किया है। टिकैत ने कहा है कि पश्चिम बंगाल में अब खेला शुरू हो गया है। वहां सरकार किसानों से चावल मांग रही है, लेकिन किसान चावल के बदले एमएसपी की बात करेगा। रीवा में राकेश टिकैत को सुनने हजारों की संख्या किसान पहुंचे थे। साथ ही उन्होंने किसानों से कहा कि बैरिकेडिंग तोड़कर कलेक्ट्रेट में घुसो।

राकेश टिकैत ने कृषि कानूनों के बारे में किसानों को समझाया है। साथ ही सरकार से बिल वापस लेने की मांग की है। किसान नेता ने कहा कि अगर सरकार इस बिल को वापस नहीं लेती है तो किसानों की तरफ से विकराल आंदोलन किया जाएगा। साथ ही आने वाले दिनों में यह आंदोलन विकराल रूप धारण करेगा।

रीवा के किसानों से टिकैत ने कहा कि अब रीवा के किसानों के लिए कलेक्ट्रेट ही पार्लियामेंट है, जिसके लिए कलेक्ट्रेट में लगी बैरिकेडिंग को तोड़ना होगा। उसके बाद किसानों को कलेक्ट्रेट में घुसना होगा। इनकी फसलें मंडी में बिके, साथ ही एमएसपी का लाभ इन्हें मिले।

किसान महापंचायत में किसानों को संबोधित करते हुए राकेश टिकैत ने कहा कि बंगाल चुनाव में सरकार घर-घर जाकर चावल मांग रही है। किसान सरकार को चावल देकर एमएसपी की बात करेंगे। सरकार से वार्ता को लेकर टिकैत ने कोई ठोस जवाब नहीं दिए। साथ ही उन्होंने बीजेपी की सरकार पर जमकर हमला किया है। वार्ता कब होगी पर टिकैत ने कहा कि नवंबर-दिसंबर में होगी।

एमपी के किसानों से टिकैत ने कहा कि आप लोग दिल्ली भी आएं और वहां आंदोलन को मजबूत करें। 15 मार्च को राकेश टिकैत जबलपुर में किसान महापंचायत को संबोधित करेंगे। टिकैत ने सबसे पहले श्योपुर में महापंचायत को संबोधित किया था। उसके बाद से लगातार वह एमपी में सक्रिय हैं।

error: Content is protected !!