राज्यसभा चुनाव और बिहार का गणित

Other Trending News and Topics:

RIGHT NEWS INDIA: राज्यसभा की खाली सीटों के लिए बिहार (Bihar) की पांच सीटों के लिए 10 जून को चुनाव होगा. भारत निर्वाचन आयोग ने चुनाव की घोषणा कर दी है. 24 मई को राज्यसभा चुनाव के लिए अधिसूचना जारी होगी. 31 मई 2022 नामांकन की अंतिम तिथि है. 01 जून 2022 को नामांकन पत्रों की समीक्षा की जाएगी. नाम वापसी की अंतिम तिथि 03 जून है तो वहीं 10 जून को मतदान होगा. 10 जून को सुबह नौ बजे से शाम चार बजे तक मतदान होगा और उस दिन ही शाम पांच बजे मतों की गिनती होगी.

बिहार में केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह. लालू प्रसाद की बेटी डॉ मीसा भारती, गोपाल नारायण सिंह सतीश चंद्र दुबे शरद यादव का कार्यकाल 21 जून 2022 को समाप्त हो रहा है.

ये है चुनाव का गणित

सियासत के दृष्टिकोण से बिहार की ये पांचों सीट महत्वपूर्ण है. बिहार में राज्यसभा चुनाव के लिए वोटिंग का गणित कुछ इस प्रकार है. बिहार में विधानसभा की कुल 243 सीटें है. पांच सीटों पर चुनाव है. तो एक सीट के लिए 41 वोटों की आवश्यक्ता है. बीजेपी के पास 77 विधायक हैं और मांझी के 4 के चार और जेडीयू के चार वोटों की सहायता से उसके दो सीट पक्के हैं. आरजेडी के भी 76 विधायक है उसके दो सीट जेडीयू के एक सीट पक्के हो जाते अगर पांच सीट के लिए पांच उम्मीदवार रहते हैं तो चुनाव निर्विरोध होगा.अगर 5 से अधिक कैंडिडेट नामांकन दाखिल करते है तब मतदान की जरूरत पड़ेगी. राज्यसभा चुनाव नें जेडीयू को एक सीट का नुकसान हो रहा है

शरद यादव जा सकते हैं राज्यसभा

लालू प्रसाद की बेटी मीसा भारती, और जेडीयू की तरफ से केंद्रीय मंत्री और जेडीयू के वरिष्ठ नेता आरसीपी सिंह राज्यसभा जाना तय है. आरजेडी दूसरे सीट पर शरद यादव को राज्यसभा भेज सकती है.

राजनीति में हासिए पर है शरद यादव

शरद यादव ने हाल ही में अपनी पार्टी का विलय आरजेडी में किया है. वह वर्तमान समय में राजनीतिर हासिय पर है. कुछ दिन पहले जीतनराम मांझी ने भी उनसे मुलाकात की थी और कहा था कि वह लालू प्रसाद और नीतीश कुमार से मिलकर उन्हें राज्यसभा भेजने की गुजारिश करेंगे. वहीं बीजेपी कोटे से बीजेपी कोटे से गोपाल नारायण सिंह और सतीश चंद्र दूबे रिपीट होते हैं यह देखना होगा.


Other Trending News and Topics:

Comments:

error: Content is protected !!