मंत्री बनते ही राजीव चंद्रशेखर के ट्विटर एकाउंट से हटा ब्लू टिक, हैंडल बदलना हो सकता है कारण

Read Time:2 Minute, 48 Second

केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी और कौशल विकास राज्य मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने सोमवार को ट्विटर पर ब्लू टिक खो दिया। ट्विटर सूत्रों ने कहा कि माइक्रो ब्लॉगिंग साइट पर उनके हैंडल का नाम बदलना इसकी वजह हो सकती है। राजीव चंद्रशेखर ने अपना नाम राजीव सांसद से बदलकर राजीव_जीओआई कर लिया है।

ट्विटर वेरिफिकेशन पॉलिसी में बताया गया है, अगर कोई यूजर अपना उपयोगकर्ता नाम बदलता है, तो ट्विटर अकाउंट से खुद ही उसका ब्लू टिक हटा सकता है। कर्नाटक के लिए तीन बार के राज्यसभा सांसद 57 वर्षीय राजीव चंद्रशेखर ने विभिन्न संसदीय स्थायी समितियों में काम किया है। हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से एडवांस मैनेजमेंट प्रोग्राम के साथ इलिनोइस इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से कंप्यूटर साइंस में एमटेक किया है। चंद्रशेखर ने कई उद्योगों में एक सफल उद्यमी के रूप में लंबे करियर का आनंद लिया।

मंत्रालय संभालने के बाद ट्विटर विवाद पर दिया था बयान

कार्यभार संभालने के बाद ट्विटर विवाद पर बोलते हुए चंद्रशेखर ने कहा था कि मंत्रालय एकतरफा आधार पर काम नहीं करता है। उन्होंने कहा कि अभी कार्यभार संभाला है। मंत्रालय एकतरफा आधार पर काम नहीं करता है और इसका इससे कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने कहा कि मंत्रालय नए केंद्रीय मंत्री के साथ बैठेगा और इन सभी मुद्दों को संबोधित करेगा।

ट्विटर पहले भी हटा चुका है बड़े नेताओं का ब्लू टिक

पिछले महीने भी ट्विटर ने उप राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू के निजी ट्विटर हैंडल से ब्लू टिक हटा दिया था। इसके अलावा राष्ट्रीय स्वयंसेवक प्रमुख मोहन भागवत, संघ के पूर्व सरकार्यवाह भैयाजी जोशी (सुरेश जोशी), पूर्व सह सरकार्यवाह सुरेश सोनी और सर कार्यवाह अरुण कुमार के अकाउंट से ट्विटर ने ब्लू टिक हटा दिया था।

error: Content is protected !!
Hi !
You can Send your news to us by WhatsApp
Send News!