लेखक,समाजिक तथा राजनीतिक कार्यकर्ता रमेश भारद्वाज उर्फ रमेश चन्द की कलम से

परेशान न हों अगर आपको बजट पसंद नही, ये तो होना ही था, क्यूकी हमने सत्ता मे उन्हे ही बिठा रखा है, जिन लोगो ने उन परिस्थियों का सामना कभी किया ही नही, जिनका सामना हम लोगो ने किया है या हम कर रहे हैं -रमेश भारद्वाज ।

अगर आप किसी व्यवसाई को कुर्सी पर बिठाओगे,तो वो देश बेचने का काम नही करेगा तो और क्या करेगा। अगर आप किसी कारोबारी के दोस्त को कुर्सी पर बिठाओगे तो वो अपने दोस्त के लिये काम नही करेगा तो क्या वो आपके (गरीबो) के लिये काम करेगा। गुजराती पूंजीपतियो ने गुजराती मोदी को और अमितशाह को इसलिये केन्द्र सरकार मे भेजा है, जिससे केन्द्र से सीदा पैसा पूंजीपतियों तक पहुँच सके। इसलिये आप को इस बजट से कोई परेशानी नहीं होनी चाहिये। क्या आप ने किसानो को या किसी आम नागरिक को MLA या MP बना कर सदन मे भेजा, जिस से वो कुछ इस तरह का बजट पेश करता, जिस से आप आदमी का भला होता? क्या आपने किसी जवान को MLA या MP बना कर सदन मे भेजा जिस से वो कुछ इस तरह का बजट पेश करता जिस से, जवानो का भला होता? क्या आप ने किसी ऐसे व्यक्ति को MLA या MP बना कर भेजा, जिस ने प्राइवेट सैक्टर मे काम कीया हो, जिस से वो कुछ इस तरह का बजट लाता कि प्राइवेट सैक्टर मे काम कर रहे लोगो का भला होता। क्या आपने ज्यादा से ज्यादा महिलाओं को MP या MLA बना कर भेजा, जिस से,वो महिलाओ के हित मे बजट पेश करती।

अभी भी समय है,उपरोकत लोगो को MLA और MP बनाओ और अपने फायदे का बजट पाओ और इन लोगो से मुक्ति पाओ, तथा एक आत्मनिर्भर भारत का निर्माण करो। इस बजट मे अगर किसी को राहत दी गई है,तो वो सिर्फ पूंजीपतियो को,और वो भी उन पूंजीपतियों को जो, गरीब लोगो से 12-18 घण्टे हर रोज काम करते है, उनका खून चुस्ते है,और जब उनका पुरा खून काम करवा कर  चूस लेते है, तब उन्हे नौकरी से निकाल देते है।

इस से पहले वो आपके और आपके बच्चो के साथ ऐसा करें,आओ मिलकर इन्ही लोगो को सत्ता से बाहर का रास्ता दिखा दे ।

SHARE THE NEWS:
error: Content is protected !!