छठे राज्य वित्त आयोग के अध्यक्ष सतपाल सत्ती द्वारा गगरेट विकास खण्ड में नगर पंचायत गगरेट व दौलतपुर चैक के नवनिर्वाचित शहरी स्थानीय निकायों एवं पंचायती राज संस्थाओं के प्रतिनिधियों के साथ बैठकें की। इस मौके पर पहली बैठक नगर निकाय सदस्यों व अध्यक्षों, दूसरी बीडीसी प्रमुखों और तीसरी ग्राम पंचायत प्रधानों के साथ की।

राज्य वित्त आयोग के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए सतपाल सत्ती ने बताया कि आयोग ग्राम पंचायतों, जिला परिषदों, समिति क्षेत्रों और शहरी निकायों की वित्तीय स्थिति में सुधार लाने के कार्य करता है। बढ़ते शहरीकरण और आबादी के हिसाब से उपलब्ध विकास गतिविधियों का अध्ययन कर पंचायतों और निकायों में सुधारों की स्थिति का आंकलन करता है। इसके अलावा राज्य सरकार के संसाधनों, प्रशासनिक खर्च व अन्य प्रतिबद्ध व्यय एवं दायित्व का निर्धारण का काम भी वित्त आयोग का है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा गठित आयोग यह तय करता है कि राज्य सरकार के स्वयं के करों में से कितना हिस्सा पंचायतों और स्थानीय निकायों को दिया जाना जरूरी है। उसी की सिफारिशों पर सरकार का पंचायतों और निकायों के लिए करों की हिस्सेदारी का निर्धारण किया जाता है। उन्होंने बताया कि आयोग को यह अधिकार है कि वह किसी भी अधिकारी से सूचना व अभिलेख की मांग कर सकता है तथा इसके लिए किसी व्यक्ति को बुला सकता है।

बैठक में जनप्रतिनिधियों द्वारा अपने सुझाव आयोग को दिए गए साथ ही प्रत्यावेदन भी दिया गया। अध्यक्ष द्वारा जनप्रतिनिधियों के सुझाव भी सुने गए। सत्ती ने कहा कि विकासात्मक परियोजनाओं के सृजन के लिए शहरी क्षेत्रों में भूमि की उपलब्धता एक समस्या है तथा इसके लिए जन प्रतिनिधि प्रशासन के साथ समन्वय स्थापित कर अपने-अपने क्षेत्र में उपलब्ध भू-सम्पदा का आकलन कर भू-बैंक तैयार करें ताकि विकासात्मक परियोजनाओं को धरातल पर लाने में कोई विलम्ब न हो। इसके अलावा पंचायत प्रतिनिधि भी अपनी ग्राम पंचायत क्षेत्र में आय सृजन के विकल्पों की समीक्षा करके रिपोर्ट तैयार करें, जिसके आधार पर भविष्य में इन संसाधनों को और सुदृढ़ करने के लिए सरकार से फंडिंग करवाई जा सके। उन्होंने बताया कि वर्तमान केन्द्र व राज्य सरकार ने हर परिवार को मकान उपलब्ध करवाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। जिसे हासिल करने के लिए भूमिहीन परिवारों को मकान के लिए भूमि उपलब्ध करवाने के लिए भू बैंक सार्थक सिद्ध होगा। उन्होंने कहा कि जन प्रतिनिधि अपने सुझाव लिखकर अथवा ईमेल के माध्यम से भी आयोग को भेज सकते है।

बैठक में गगरेट विधानसभा क्षेत्र के विधायक राजेश ठाकुर ने भी क्षेत्र की समस्याओं बारे सतपाल सत्ती को अवगत करवाया तथा क्षेत्र के विकास के लिए सहयोग देने पर उनका धन्यवाद किया।

बैठक में एसडीएम गगरेट विनय मोदी, उपनिदेशक वित्तायोग रविन्द्र कुमार, भाजपा मण्डलाध्यक्ष गगरेट सतपाल, बीडीओ सुदर्शन कुमार, पंचायत समिति अंब के अध्यक्ष सुनीता धीमान, उपाध्यक्ष संदीप ठाकुर, गगरेट अध्यक्ष रीता धीमान व उपाध्यक्ष प्रिंस जसवाल, नगर पंचायत गगरेट के प्रधान वीरेन्द्र शर्मा, उपप्रधान कुसुम लता सहित विभिन्न पंचायतों के प्रधान तथा बीडीसी सदस्य उपस्थित रहे।

जाड़ला क्योड़ी हत्याकांड के पीड़ित परिवार से मिले सतपाल सत्ती
छठे राज्य वित्तायोग अध्यक्ष सतपाल सत्ती जाड़ला क्योड़ी हत्याकाण्ड की पीड़ित परिवार से भेंट कर सांत्वना दी और कहा कि सरकार उन्हें न्याय दिलाने के लिए हर संभव सहायता करेगी। इस अवसर पर गगरेट के विधायक राजेश ठाकुर भी उनके साथ रहे।

error: Content is protected !!