कांग्रेस का किसान आंदोलन के समर्थन में मार्च, प्रियंका को गिरफ्तार करके छोड़ा

केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ राष्ट्रपति भवन की तरफ मार्च निकाल रहे कांग्रेस नेताओं को पुलिस ने बृहस्पतिवार को रोक दिया और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा समेत कई पार्टी नेताओं को हिरासत में ले लिया। हालांकि, आधे घंटे बाद ही प्रियंका को पुलिस ने छोड़ दिया। थाने से बाहर आने के बाद प्रियंका ने कहा कि वे किसानों की आवाज उठाती रहेगी। उन्होंने कहा कि देश में लोकतंत्र खतरे में है। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के मुख्यालय से कांग्रेस नेताओं ने राष्ट्रपति भवन की तरफ मार्च शुरू किया, जिसे कुछ ही दूरी पर पुलिस ने रोक दिया। इसके बाद कांग्रेस के नेता वहीं बैठ गये और प्रदर्शन किया। बाद में इन नेताओं को हिरासत में लिया गया। कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि पुलिस प्रियंका गांधी समेत कई नेताओं को मौके से बस के जरिए स्थानीय थाने ले गई। पार्टी की ओर से जारी वीडियो के मुताबिक, हिरासत में लिए जाने के बाद प्रियंका ने कहा, ‘अगर हर चीज के लिए विपक्ष को जिम्मेदार ठहराते हैं तो सरकार 5 साल तक नहीं चल सकती। जनता के प्रति सरकार की जिम्मेदारी है।’ उन्होंने यह भी कहा कि अगर सरकार किसानों की आवाज सुनेगी तो इस मामले का हल निकलेगा। कांग्रेस के कई नेताओं और कार्यकर्ताओं ने सरकार विरोधी नारे भी लगाए।

error: Content is protected !!