जिस कांग्रेस की खुद की ही गारंटी नहीं है, वे जनता को क्या गारंटी देंगे; राकेश शर्मा

0
34

धर्मशाला। हिमाचल प्रदेश भाजपा के मीडिया प्रभारी राकेश शर्मा ने कांग्रेस पार्टी के नेताओं पर तंज कसते हुए कहा है कि गारंटी वे लोग देते हैं जिनकी खुद की भी गारंटी हो। जिस कांग्रेस की खुद की ही गारंटी नहीं है वे जनता को क्या गारंटी देंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी का सरकार बनाने का युग बहुत पहले ही खत्म हो चुका है तथा कांग्रेस पार्टी के नेता चाहे जो भी हथकंडे अपना ले न तो प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने वाली है और न ही जनता के बीच उनकी चलने वाली है। राकेश शर्मा ने कहा कि 2022 के होने वाले विधानसभा चुनाव में एक बार फिर से भाजपा के पक्ष में लहर बनी हुई है तथा तय है कि भाजपा की जयराम सरकार का मिशन रिपीट होने वाला है।

उन्होंने कहा कि बिखरते कुनबे को बचाने के लिए आज कांग्रेस के समक्ष चुनोति बनी हुई है। कांग्रेस को सर्जरी की जरुरत है। कांग्रेस पार्टी भ्रम में जी रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के विधायक और कार्यकर्ता कांग्रेस को छोड़कर भाजपा में शामिल हो रहे हैं। कांग्रेस अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रही है कांग्रेस की गुटबाजी जगजाहिर हो चुकी है। कांग्रेस का वजूद पूरे देश में मिट रहा है। उन्होंने कहा कि खुद को देश की सबसे पुरानी पार्टी बताने वाली कांग्रेस में आज ना अच्छे नेता हैं, ना नीति है और ना ही नीयत। परिवारवाद और भ्रष्टाचार की वजह से आज देश की जनता ने कांग्रेस को नकार दिया है।

उन्होंने कहा राष्ट्रीय राजनीति में तो कांग्रेस की दुर्गति जगजाहिर है। देश के कई प्रदेशों में तो कांग्रेस की हालत विपक्षी दल की भी नहीं रह गई है और जहां एक दो जगहों पर कांग्रेस मुख्य विपक्षी पार्टी के रूप में मौजूद है वहां उनकी हालत खराब है। राकेश शर्मा ने कहा कि कांग्रेस का हर नेता खुद को अध्यक्ष मानकर चला हुआ है। हर नेता अपने आप को मुख्यमंत्री के रूप में देख रहा है। चुनाव हुए भी नहीं हैं और कांग्रेस के दर्जनों नेता मुख्यमंत्री बनने के सपने देख रहे हैं। कांग्रेस नेता और जी-23 के लीडर रहे आनंद शर्मा ने भी संचालन समिति के अध्यक्ष पद को अलविदा कह दिया। अब वो भी खुलेआम बोल रहे हैं कि वो आत्मसम्मान से समझौता नहीं कर सकते।

Leave a Reply