Kinnaur News: निगम भंडारी की अगुवाई में युवा कांग्रेस ने की बाढ़ पीड़ितों की मदद

0

किन्नौर: जिला किन्नौर के हांगरंग घाटी के शलखर, चांगो, हांगो, लियो और चुलिंग गांव में बादल फटने (Cloud burst in Kinnaur) से बीते दिनों बाढ़ ने खुब तबाही मचाई. ग्रामीणों के लाखों के सेब के बगीचे और मटर की खेती को काफी नुकसान हुआ था. ग्रामीण अभी भी अपने खेतों व मकानो के अंदर से मलवा हटा रहे हैं. जिसको देखते हुए किन्नौर युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओ ने प्रदेश युकां अध्यक्ष नेगी निगम भंडारी की अगुवाई में आज ग्रामीणों को राहत सामग्री आबंटित की.

प्रदेश युवा कांग्रेस अध्यक्ष निगम भंडारी (Youth Congress President Nigam Bhandari) ने बताया कि हाल ही मे हांगरंग घाटी के ग्रामीण क्षेत्रों मे बादल फटने से आई बाढ़ ने लोगों की निजी संपत्ति को भारी नुकसान पहुंचाया है. खासकर ग्रामीणों के सेब के बगीचे और मटर की खेती को काफी नुकसान हुआ है. उन्होंने कहा कि ग्रामीण अभी तक इस नुकसान से बाहर नहीं आ पाए हैं. ऐसे में युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के ग्रामीणों की कुछ हद्द तक मदद करने की कोशिश की है.

इसी कड़ी में आज सेब बागवानों व मटर के खेती करने वाले किसानों को युकां कार्यकर्ताओं ने खेती से जुड़े औजार व अन्य राहत सामग्री आबंटित की. उन्होंने कहा कि युकां भविष्य में भी बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के सभी ग्रामीणों की मदद करने के लिए खड़ी रहेगी. नेगी भंडारी ने कहा कि प्रदेश सरकार की तरफ से फिलहाल बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के लोगों की अब तक कोई मदद नहीं की गई है. उन्होंने कहा कि सीएम ने केवल सांत्वना की जताई, वे इन क्षेत्रों का दौरा करने तक नहीं आए. जो बहुत ही शर्म की बात है.

उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री वैसे तो राजनीतिक कार्यक्रमों में जाने के लिए हेलीकॉप्टर का प्रयोग करते हैं. लेकिन जनजातीय क्षेत्र में त्रासदी के दौरान हेलीकॉप्टर से न तो उन्होंने राहत सामग्री भेजी और न ही स्वयं जायजा लेने आए. उन्होंने मुख्यमंत्री से जल्द हांगरंग घाटी के बाढ़ प्रभावित लोगों को सहायता मुहैया करवाने की मांग की है.

Previous articleएचपीयू ने जारी की एमटेक कंप्यूटर साइंस की परीक्षाओं को डेट शीट, जाने कब होंगे एग्जाम
Next articleManimahesh Yatra: 4 अगस्त को मुफ्त में होगा मणिमहेश यात्रा के लिए पंजीकरण

समाचार पर आपकी राय: