कौल सिंह ठाकुर और सुरेंद्र पाल को 70 साल का बता कर आश्रय शर्मा ने मंडी और जोगिंद्रनगर से मांगा टिकट

0
34

मंडी। Mandi Ashray Sharma, हिमाचल प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कौल सिंह ठाकुर और जोगेंद्रनगर हलके के पूर्व विधायक सुरेंद्र पाल ठाकुर को 70 साल से अधिक का बताकर पूर्व केंद्रीय मंत्री पंडित सुखराम के पोते आश्रय शर्मा ने दोनों क्षेत्र से कांग्रेस टिकट के लिए आवेदन किया है।

आश्रय ने आनलाइन आवेदन किया है। गृह हलके सदर को छोड़कर साथ लगते द्रंग व जोगेंद्रनगर विधानसभा क्षेत्र से टिकट के लिए आवेदन करना सोची-समझी रणनीति का हिस्सा माना जा रहा है।

आश्रय शर्मा ने कांग्रेस नेतृत्व व कौल सिंह ठाकुर पर दबाव बनाने की मंशा से दोनों हलकों से टिकट के लिए आवेदन किया है। सदर हलके से कौल सिंह ठाकुर की बेटी चंपा ठाकुर ने कांग्रेस के टिकट पर दावेदारी जताई है। 2017 के विधानसभा चुनाव में चंपा ठाकुर कांग्रेस की प्रत्याशी थी। भाजपा विधायक अनिल शर्मा की कांग्रेस में वापसी की अटकलों को देखते हुए आश्रय शर्मा ने उनके लिए जमीन तैयार करने की कसरत शुरू कर दी है। द्रंग कौल सिंह ठाकुर का गढ़ रहा है। 1990 व 2017 के विधानसभा चुनाव को छोड़कर वह आठ बार द्रंग से लगातार विधायक चुने गए हैं। 1990 में दीनानाथ शास्त्री व 2017 में जवाहर ठाकुर ने उन्हें शिकस्त दी थी। द्रंग विधानसभा क्षेत्र का 50 प्रतिशत से अधिक हिस्सा सदर हलके के साथ लगता है। किसी समय द्रंग में पंडित सुखराम का सिक्का चलता था।

पूर्व विधायक सुरेंद्रपाल ठाकुर का पिछले चुनाव में टिकट कट गया था। वह वीरभद्र परिवार के सिपहसालार हैं। प्रतिभा सिंह के प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष बनने से उन्हें टिकट मिलने की संभावना प्रबल हो गई है। प्रतिभा कैंप को परेशान करने के लिए आश्रय शर्मा ने जोगेंद्रनगर हलके से टिकट की दावेदारी कर चर्चाओं का बाजार गर्मा दिया है।

मंडी व कुल्लू जिले से 15 कार्यकर्ताओं ने टिकट के लिए आनलाइन व आफलाइन आवेदन किया है। मनाली हलके से नवीन तनवर, धर्मपुर से संतोष ठाकुर व सुंदरनगर से नरेश उर्फ मिंटू सेन ने भी आवेदन किया है। संतोष ठाकुर मंडी जिला कांग्रेस सेवादल के अध्यक्ष हैं। मिंटू सेन नगर परिषद सुंदरनगर के पार्षद रह चुके हैं।

Leave a Reply