पुलिस नशा माफिया और अवैध खनन पर करेगी नॉक आउट पंच- संजय कुंडू

Read Time:4 Minute, 9 Second

नशा माफिया व अवैध खनन पर पुलिस नॉक आऊट पंच करेगी और नशा माफिया की मनी लॉन्ड्रिंग की भी प्रवर्तन निदेशालय से जांच करवाने हेतु मामला सौंपा जाएगा। यह बयान हिमाचल पुलिस प्रमुख संजय कुंडू ने इंदौरा में प्रेस वार्ता के दौरान दिया। वह मंगलवार को अवैध खनन की ग्राऊंड रिपोर्ट व मंड क्षेत्र में माइनिंग असैसमैंट करने के उद्देश्य से इंदौरा पहुंचे हुए थे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने माइनिंग माफिया पर नकेल कसने हेतु जो निर्णय लिया है उसी सिलसिले में ऊना के क्षेत्र व जिला कांगड़ा के माइनिंग प्रोन मंड क्षेत्र में अवैध खनन की वस्तुस्थिति जानने के लिए मंड क्षेत्र का दौरा करेंगे।

अवैध खनन में भी लगेगी आपराधिक षड्यंत्र की धारा

उन्होंने कहा कि भविष्य में अवैध खनन पर लगाम कसने हेतु पुलिस को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए हैं तथा अब अवैध खनन में भी आपराधिक षड्यंत्र की धारा लगाकर मामले दर्ज किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में पंजाब में चुनाव होने वाले हैं, जैसे-जैसे चुनावी सरगर्मियां बढ़ेंगी, अंतर्राजीय अपराध भी बढ़ेगा और जिला कांगड़ा, ऊना व चम्बा के बॉर्डर एरिया की संवेदनशीलता बढ़ेगी। इसके लिए सीमांत पुलिस थानों को सतर्कता बरतने व उन्हें और अधिक सबल किया जाएगा।

नशे की काली कमाई को कहां-कहां किया खर्च, पुलिस करेगी जांच

क्षेत्र में नशा माफिया के मकडज़ाल को तोडऩे बारे पुलिस की रणनीति के सवाल पर डीजीपी ने कहा कि जिला पुलिस ने नारकोटिक्स में क्वांटिटी के साथ-साथ क्वालिटी केस दर्ज किए हैं। इसमें नशा तस्करों की प्रॉपर्टी को फ्रीज किया जा रहा है। अब पुलिस इससे भी अधिक तह तक जाएगी और ईडी के माध्यम से नशा तस्करों पर अब तक दर्ज हुए मामलों, उनके आय के स्त्रोतों, अवैध कमाई व नशा तस्करी की कमाई को कहां-कहां खर्च किया गया, इसकी जांच की जाएगी। उन्होंने बताया कि पुलिस की जांच के अनुसार कई नशा तस्करों ने नशे की काली कमाई से बड़े-बड़े होटल व आलीशान घर बना रखे हैं, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) जांच से उनकी तमाम संपत्तियों को जब्त किया जाएगा। उन्होंने बताया कि अब तक पुलिस ने नशा माफिया की 8 करोड़ रुपए की संपत्ति को फ्रीज किया है लेकिन अब पुलिस एक कदम और आगे जाएगी और इनके द्वारा अब तक की गई कमाई व कमाई को कहां-कहां लगाया है, इसकी भी जांच कर सब कुछ जब्त किया जाएगा।

ड्रोन हमलों से एक नई चुनौती पुलिस के सामने

प्रदेश की आंतरिक व बाह्य सुरक्षा के सवाल पर डीजीपी ने कहा कि हाल ही में हुए ड्रोन हमलों से एक नई चुनौती पुलिस के सामने है, जिसके लिए डीआईजी सुरक्षा एवं सतर्कता संतोष पटियाल के नेतृत्व में बोर्ड ऑफ ऑफिसर्ज जांच कर एहतियाती कदम उठाए जाएंगे व प्रदेश की आंतरिक व बाह्य सुरक्षा में जरूरी कदम उठाए जाएंगे।

error: Content is protected !!
Hi !
You can Send your news to us by WhatsApp
Send News!