हिमाचल प्रदेश में मनाली-लेह मार्ग पर शनिवार सुबह भूस्खलन हुआ है। भूस्खलन के कारण इस पर यातायात बंद कर दिया गया है। मार्ग पूरी तरह से बहाल न होने तक वाहनों को आगे नहीं जाने दिया जा रहा है। मार्ग अवरुद्ध होने का कारण दारचा से आगे वाहनों को जाने नहीं दिया जा रहा है। लाहुल-स्पीति पुलिस के अनुसार जबतक मार्ग बहाल नहीं होता तब तक इस मार्ग पर वाहनों को आगे जाने नहीं दिया जाएगा। कुछ दिनों पहले ही यह मार्ग वाहनों के बहाल किया गया था लेकिन आज मार्ग पर भूस्खलन होने से वाहनों को पहिए थम गए। दूसरी तरफ लाहुल स्पीति पुलिस ने भी आने जाने वालों पर नजर रखने के लिए दारचा में पुलिस पोस्ट स्थापित कर दी है। 

इसी बीच लाहुल स्पीति पुलिस ने दो पर्यटकों को कुंजुम दर्रे से रेस्कयू किया है। पुलिस के अनुसार शुक्रवार रात 9ः20 बजे के आसपास सूचना मिली कि दो पर्यटकों ने कुंजुम दर्रे की ओर बढ़ते हुए रास्ता भटक गए हैं। बिना समय गंवाए एक बचाव दल का गठन किया गया। उन्होंने पूरे क्षेत्र की खोज की और आधी रात के आसपास फंसे हुए पर्यटकों को रेस्क्यू किया। पर्यटकों को काजा में सुरक्षित वापिस सुरक्षित लाया गया और मेडिकल जांच मे उन्हें स्वस्थ पाया गया। एसपी मानव वर्मा ने कहा कि कुंजुम दर्रा 4,551 मीटर (14,931 फीट) की ऊंचाई पर स्थित है। रात का तापमान सामान्य तौर पर -15 से -20 डिग्री के आसपास रहता है जो घातक भी हो सकता है। इसलिए दुर्गम क्षेत्र की ओर जाने से पहले स्थानीय पुलिस और स्थानीय प्रशासन से संपर्क करें।

error: Content is protected !!