गुरुग्राम में एक विवाहिता की संदिग्ध मौत हो गई। मृतका के परिवार ने उसके पति और ससुरालवालों के खिलाफ दहेज हत्या का मामला दर्ज कराया है। मृतका की पहचान तनुजा के रूप में हुई है। वह एक बैंक में काम करती थी। पिता का आरोप है कि उन्होंने दहेज में दामाद को क्रेटा कार नहीं दी, इसी वजह से उन लोगों ने तनुजा को जहर देकर मार डाला।

तनुजा गुरुग्राम के हयातपुर में मौजूद एक निजी बैंक में एक्जीक्यूटिव के पद पर तैनात थी। दरअसल, तनुजा की शादी 24 मई 2020 को खरखड़ी गांव के निवासी संदीप के साथ हुई थी। यह लव कम अरेंज्ड मैरिज थी। 3 दिन पहले यानी 7 मार्च को संदीप के परिजनों ने तनुजा के पिता को फोन किया और बताया कि तनुजा हॉस्पिटल में एडमिट है।

पुलिस ने मृतका के पिता की शिकायत पर आरोपी पति संदीप और उसके परिजनों के खिलाफ आईपीसी की धारा 304बी (दहेज हत्या) और धारा 498ए यानी दहेज की मांग करना समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर लिया। तनुजा के पिता ने अपनी तहरीर में भी कहा कि शादी के बाद ‘क्रेटा’ नहीं, इसलिए उनकी होनहार बेटी को मार दिया।

बताया जा रहा है कि संदीप और उसके परिजन तनुजा को ताने मारते थे। उसका शारीरिक और मानसिक उत्पीड़न करते थे। हालांकि कई बार इस बात को लेकर दोनों परिवारों के बीच बातचीत हुई लेकिन बावजूद इसके संदीप और उसके परिजनों की दहेज की डिमांड बढ़ती चली गयी। इसी दौरान परेशान हाल तनुजा की संदिग्ध मौत हो गई। अब थाना बिलासपुर पुलिस आरोपियों की छानबीन कर रही है।

error: Content is protected !!