राजधानी दिल्ली के ककरौला गांव में एक सनकी व्यक्ति ने बारिश न होने के कारण दो धार्मिक स्थलों पर मूर्तियों को खंडित कर दिया। मामले की जानकारी मिलने के बाद ग्रामीणों ने मंदिर और नजफगढ़ मेन रोड पर जमकर विरोध-प्रदर्शन किया। छानबीन के दौरान पुलिस ने आरोपी व्यक्ति को दबोच लिया। आरोपी के पास से पुलिस को एक कुल्हाड़ी भी मिली है, जिसका इस्तेमाल मूर्ति खंडित करने में किया गया था।

पूछताछ में आरोपी महेश उर्फ भूत ने बताया कि वह भगवान से नाराज था क्योंकि गर्मी बढ़ गई है और बारिश नहीं हो रही है। इस बात का विरोध जताने के लिए उसने ऐसा किया। पुलिस का कहना है कि कुछ दिनों पहले का एक वीडियो मिला है जिसमें आरोपी आपत्तिजनक अवस्था में इलाके से गुजरता हुआ नजर आ रहा है। महेश भरत विहार इलाके में रहता है।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि घटना मंगलवार सुबह की है, जब द्वारका नॉर्थ थाने की पुलिस को सूचना मिली थी कि ककरौला इलाके में तीन विभिन्न स्थानों पर बने छोटे मंदिरों को क्षतिग्रस्त किया गया है। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने तीनों स्थानों का जायजा लिया और फिर घटनास्थल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज के आधार पर जांच शुरू की।

जांच में पता चला कि एक शख्स ने हाथ में कुल्हाड़ी लेकर देर रात 1.40 बजे के आसपास मंदिरों में तोड़फोड़ की थी। सीसीटीवी फुटेज देखने से पता चला कि उक्त शख्स का नाम महेश है। महेश सीसीटीवी में अपत्तिजनक स्थिति में दिखाई दे रहा था। उसने मंदिर में तोड़फोड़ करने के अलावा घरों के बाहर रखे फूलों के गमलों में भी तोड़फोड़ की थी। पुलिस ने बाद में उसे ट्रेस कर गिरफ्तार कर लिया।

You have missed these news

error: Content is protected !!