कोरोना ने इस बार होली का त्योहार फीका कर दिया है। होली के लिए शिमला का बाजार रंग-बिरंगें रंगों से संज तो गए है। लेकिन लोग रंगों की खरीददारी नही कर रहे हैं। जिससे कारोबारी भी काफी निराश नजर आ रहे हैं।  शिमला में पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी होली पर बाजार मंदा नजर आ रहा है। होली के लिए बाजारों में रंगों से लेकर पिचकारियां तो सज चुकी हैं, लेकिन दुकानों पर ग्राहक नहीं पहुंच रहे हैं।

ऐसे में दुकानदार निराश होकर उम्मीद जता रहे हैं कि जल्द से जल्द उनका सामान बिक जाए। राज्य सरकार द्वारा पहले ही सार्वजनिक स्थानों पर होली न मनाने के फरमान जारी किए है।

होली के पर्व पर होने वालों कार्यक्रमों पर भी पावदी लगा दी है।ऐसे में लोग भी बाजारों में रंग खरीदने से परहेज कर रहे है। व्यापारी पिछले साल का समान ही बेचने को मजबूर है। पिछले वर्ष भी कोरोना के चलते दुकानदारों का सामान नहीं बिक पाय था। ऐसे में दुकानदारों को पिछले साल का स्टॉक इस बार बेचना पड़ रहा है, ताकि सामान बिक सके और दुकानदार पिछले वर्ष हुए नुकसान को रिकवर कर सकें। लोअर बाजार के व्यापारी महेश का कहना है कि दुकानदारों ने इस साल नया स्टॉक काफी कम ही मंगवाया है,।  पिछले साल का स्टॉक बिक नहीं पाया था। उन्होंने कहा कि बाजार काफी मंदा है। ग्राहक नाममात्र ही दुकानों पर पहुंच रहे है और जो पहुंच भी रहे है, वे भी काफी कम खरीददारी करके जा रहे है। कोरोना का भय अभी भी लोगों में है, ऐसे में इस बार भी पिछले वर्ष जैसे ही होली जाती नजर आ रही है।

error: Content is protected !!