13 अप्रैल से शुरू हो रहे चैत्र नवरात्र को लेकर कांगड़ा प्रशासन ने कमर कस ली है। वहीं, आस्था व श्रद्धा के नाम पर श्रद्धालुओं का बेखौफ मालवाहक व ओवरलोड वाहनों में देवी दर्शनों के लिए आना जारी है। पहाड़ी क्षेत्र व घुमावदार रास्ते होने से  दुर्घटना का अंदेशा बना रहता है। श्रद्धा के नाम पर पुलिस भी कुछेक के ही चालान काटती है, जबकि ज्यादातर मालवाहकों में आने वाले श्रद्धालु श्रद्धा के नाम पर बचते रहे हैं। बता दें कि ऐसे वाहनों में सफर करना गैर कानूनी है। स्थानीय लोगों का कहना है कि बैरियर पर ही मालवाहक वाहनों में आने वाले श्रद्धालुओं को वहां पर रोक देना चाहिए। उन्हें बस व अन्य पैसेंजर व्हीकल में ही प्रवेश देना चाहिए, ताकि कोई अप्रिय घटना न घटे।

इस बारें बात करने पर एसडीएम कांगड़ा अभिषेक वर्मा का कहना है कि श्रद्धालुओं का इस तरह ओवरलोडिड वाहनों पर आना चिंताजनक है। ऐसे वाहनों को चैक पोस्टों पर रोक देना चाहिए, ताकि कोई अप्रिय घटना न घटे।
डीएसपी सुनील राणा का कहना कि ऐसे वाहनों में सफर करना गैर कानूनी है। पुलिस द्वारा समय-समय पर नाके लगाकर नाके लगाए जाते हैं। ऐसे वाहनों के लिए चैक पोस्टों पर तैनात कर्मियों से जबाव मांगा जाएगा।

error: Content is protected !!