ज्वालामुखी: पेंशन हितकारी सभा का आज आयोजन किया गया। आपको बता दें कि ब्लॉक देहरा के प्रधान सुरेंद्र वर्मा एवं महासचिव विनोद सूद ने संयुक्त बयान में कहा है, की पूर्व सरकार की भांति वर्तमान सरकार भी पेंशनरों के प्रति गंभीर नहीं है और उनसे सौतेला व्यवहार कर रहे हैं। उन्हें अपने अधिकारों की सुरक्षा के लिए सड़कों पर उतरने को विवश कर रही है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा दिनांक 12 दिसंबर को सुंदरनगर में पेंशन दिवस पर किए गए वायदे और घोषणाएं केवल मात्र एक छलावा था। क्योंकि 2 वर्ष बीत जाने के बाद भी ना तो जेसीसी का गठन हुआ ना ही पेंशनरों के बिलों का प्रावधान रखा गया। जिससे पेंशनरों में रोष होना स्वाभाविक है। यही नहीं प्रदेश उच्च न्यायालय द्वारा जब भी कोई निर्णय पेंशनरों के हित में दिया जाता है तो सरकार उस निर्णय को शुरु करने की बजाय पेंशनरों को उनके अधिकारों से वंचित रखने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ती। उन्होंने कहा कि यदि समय रहते सचेत नहीं रहे और इसके लिए उचित कदम नहीं उठाए गए तो भविष्य में इसके भयंकर परिणाम देखने को मिल सकते हैं। और पेंशनरों को उत्पीड़ित करने की बजाय सरकार समय पर उसका निदान करें।

By

error: Content is protected !!