हिमाचल प्रदेश में कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ता ही जा रहा है। कई जिलों में तो कोरोना कहर बनकर बरप रहा है। प्रदेश के पांच जिलों ऊना, हमीरपुर, कांगड़ा, सिरमौर और सोलन में कोरोना के मामले दिन प्रतिदिन बढ़ रहे है। जिसने हर किसी को चिंता में डाल दिया है। प्रदेश में लगातार बढ़ रहे संक्रमण के मामलों के चलते अब प्रदेश सरकार भी सख्त कदम उठा रही है जिससे कोरोना के मामलों में गिरावट आए।

ऐसे में प्रदेश सरकार ने अब फैसला लिया है कि प्रदेश के मेडिकल कॉलेजों और जिला अस्पतालों में सर्दी, खांसी, जुकाम और बुखार जैसी बीमारी का इलाज कराने आने वाले लोगों का भी कोरोना टेस्ट किया जाएगा। अगर कोई मरीज संक्रमित निकलता है, तो उसे तुरंत आइसोलेट कर उपचार शुरू किया जाएगा। गंभीर होने की स्थिति में मरीज को कोविड सेंटर में ही भर्ती किया जाएगा।

स्वास्थ्य सचिव अमिताभ अवस्थी ने सभी डीसी, सीएमओ और पुलिस अधीक्षकों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर निर्णय लिया कि अस्पताल में सर्दी, खांसी, बुखार से पीड़ित मरीजों का कोविड टेस्ट किया जायेगा जिससे कोरोना नियंत्रण में आ सके।

error: Content is protected !!