पाकिस्तान के विपक्षी नेताओं ने नेशनल असेंबली में इमरान खान सरकार के विश्वास मत प्रस्ताव करने के तरीकों को नकार दिया है। विपक्षी नेताओं ने कहा कि पीएम इमरान खान को इस्तीफा देकर नए सिरे से नेशनल असेंबली चुनाव कराने चाहिए। विपक्षी नेताओं की यह प्रतिक्रिया इमरान खान सरकार के विश्वास मत हासिल करने के बाद आई है।

इससे पहले असेंबली के बाहर सत्ता और विपक्षी दलों के सांसद आपस में उलझते नजर आए। पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज के नेताओं की सत्ताधारी पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के समर्थकों के साथ तीखी बहस हुई। विवाद के दौरान पीएमएल-एन नेता अहसान इकबाल पर जूते फेंके गए। वहीं डॉ. मुसद्दिक मलिक और मरियम औरंगजेब पर हमला किया गया। पीएमएल-एन के नेताओं ने आरोप लगाया कि उन्हें पीटीआई समर्थकों ने परेशान किया और उनके साथ हाथापाई की। उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि उनकी सुरक्षा के लिए कोई पुलिस या सुरक्षा मौजूद नहीं थी।

राष्ट्रपति आरिफ अल्वी के निर्देश पर बुलाए गए असेंबली के विशेष सत्र में इमरान खान सरकार को 342 वोटों में 178 सदस्यों का समर्थन हासिल हुआ। इस विश्वास मत प्रक्रिया का पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट के नेतृत्व वाले 11 विपक्षी दलों ने बहिष्कार किया। PDM के प्रमख मौलाना फजलुर रहमान ने कहा कि इस विश्वास मत का कोई मतलब नहीं है। उन्होंने कहा, ‘यह एक विश्वास मत नहीं था। हम जानते हैं कि किन एजेंसियों ने रात भर असेंबली सदस्यों के घरों पर नजर रखी। किसने प्रत्येक सदस्य की उपस्थिति सुनिश्चित करने के लिए उनके दरवाजों पर दस्तक दी।’

फजलुर रहमान का इशारा उन खबरों की ओर था, जिसमें कहा गया था कि सरकार ने अपने सदस्यों को इस्लामाबाद की एक लॉज में कड़ी निगरानी में रखा था। जिससे असेंबली में शक्ति परीक्षण के दौरान वे सभी मौजूद रहें। रहमान ने आरोप लगाया कि सांसदों को प्रधानमंत्री खान के पक्ष में मतदान के लिये मजबूर किया गया। उन्होंने पीएम इमरान खान को चुनौती दी कि कि वे साहस दिखाएं और नए चुनाव कराकर जनता से विश्वास मत हासिल करें।

पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज की नेता मरियम नवाज ने PDM की बैठक के बाद कहा कि इमरान खान के दिन अब गिनती के बचे हैं। अब यह बस समय की बात है कि वे कब जाते हैं। उन्होंने इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के कार्यकर्ताओं की ओर से उनकी पार्टी की प्रवक्ता मरियम औरंगजेब, पूर्व प्रधानमंत्री शाहिद खकान अब्बासी और पूर्व गृह मंत्री अहसन इकबाल समेत अन्य नेताओं के साथ बदसलूकी को लेकर भी नाराजगी जताई।

मरियम ने कहा, ‘मेरा सिर यह देखकर फख्र से ऊंचा हो गया कि आपने कैसे भाड़े के कुछ दर्जन गुंडों का मुकाबला किया और उन्हें भागने पर मजबूर कर दिया।’ उन्होंने मरियम औरंगजेब पर हुए हमले पर दुख जताया। पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के नेता बिलावल भुट्टो जरदारी ने PDM की बैठक के बाद अपने संबोधन में कहा कि सीनेट की सीट हारने के बाद खान का पर्दाफाश हो गया है और उनका विश्वास मत निरर्थक था। उन्होंने कहा कि हम पहले ही जीत चुके हैं और अब बदलाव का वक्त आ गया है।

error: Content is protected !!