हिमाचल प्रदेश में इन दिनों लगातार आगजनी के मामलों सामने आए है। पांवटा साहिब के साथ लगते कांटी मश्वा पंचायत के खलियांटी मे भी बिते दिन देरशाम आग लगने की घटना सामने आई है। इस घटना में रणजीत सिंह कंवर के घर को चारों तरफ से घेर लिया। एक बार परिवार आग के बीच फंस गया। लेकिन महिलाएं हिम्मत रखते हुए जहां बच्चों को लेकर सुरक्षित स्थान पर पंहुची वहीं रणजीत सिंह और उनके बेटे ने साहस का परिचय देते हुए आग की लपटों का सामना करते हुए पहले गोशाला मे बंधे पशुओं को खोलकर भगाया और फिर अपने आशियाने को बचाने मे जुट गये।

इस दौरान तीन गोशालाएं तो आग की भेंट चढ़ गई लेकिन रिहायश मकान को किसी तरह जलने से बचा लिया। बाद मे कुछ स्थानीय लोग भी मौके पर पंहुचे और आग पर काबू पा लिया। उसके बाद पशुओं को ढूंढकर इकट्ठा किया गया। इस आगजनी से परिवार को आर्थिक हानि हुई है। पंचायत प्रधान कांटी मश्वा काहन सिंह ने मांग की है कि राजस्व विभाग मौके का मुआयना कर नुकसान की रिपोर्ट बनाएं ताकि पीड़ित को उचित मुआवजा मिल सके। तहसीलदार कमरऊ नरौत्तम लाल ने बताया कि मौके पर पटवारी को भेजकर नुकसान की रिपोर्ट बनाई जाएगी।

error: Content is protected !!