पहाड़ो की रानी शिमला को साफ सुथरा रखने के लिए  नगर निगम ने कसरत तेज कर दी है। नगर निगम शिमला स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत तीन मशीनें पहाड़ों  नालियों से कूड़ा उठाने वाली खरीदने जा रहा है। दिल्ली की कंपनी ने वीरवार को रिज मैदान पर कंपनी ने मशीन के साथ डेमो दिया । स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के अधिकारियों सहित नगर निगम शिमला के आयुक्त भी मौजूद रहे और मशीन की कार्य प्रणाली को जाना। यह मशीन पहाड़ियों पर पड़े कचरे को साफ करेगी। मशीन में वैक्यूम क्लीनर लगा हुआ है, सड़क किनारे नालियों ओर पहाड़ियों पर  गिरे प्लास्टिक के रैपर, पेड़ों के पत्ते और कचरे को साफ करेंगी। जहां पर सफाई कर्मचारी का पहुंचना मुश्किल है वहां पर भी यह पहुंच सकेगी। इससे अब पहाड़ियाें पर गंदगी नहीं फैलेगी। खास बात यह है कि पहाड़ियों पर सफाई करते समय धूल नहीं उड़ेगी और पर्यावरण को कोई नुकसान नहीं होगा। मशीन को चलाने के लिए एक कर्मचारी की जरूरत रहेगी। मशीन बिजली से चार्ज होगी। वीरवार को कंपनी द्वारा निगम को इसकी प्रस्तुति रिज मैदान दी गई।  इसके बाद स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत इसके लिए टैंडर किए जाएंगे।

शहर की सड़कों को साफ करने के लिए नगर निगम शिमला पहले ही तीन रोड़ स्वीपिंग शमीनें खरीद चुका है। चौड़ा मैदान से लेकर छोटा शिमला तक की सड़कों की सफाई नगर निगम अब इन मशीनों से कर रहा है। जल्द ही एक लिटल पिकिंग मशीन भी निगम को मिल जाएगी। पहाड़ियों की सफाई भी नगर निगम को सहायता मिलेगी।


स्मार्ट सिटी के एमडी आबिद हुसैन ने कहा कि  दिल्ली की कंपनी ने पहा़ड़ों से कचरा उठाने के लिए बनाई मशीनों की प्रस्तुति दी है। इसी तरह की दो से तीन मशीने स्मार्ट सिटी के तहत खरीदी जाएगी। आज इसका डेमो दिया गया है  शहर में पहाड़ियों पर कूड़ा उठाने का काम यह मशीनें कर सकेगी। जल्द ही इसके लिए टेंडर निकाला जाएगा। 

error: Content is protected !!