बिहार के नवादा जिले में मंगलवार सुबह नक्सलियों ने 3 पुराने साथियों के खिलाफ डेथ वारंट जारी किया है। उन्होंने सिरदला ब्लॉक के कुशाहन गांव में मिडिल स्कूल की दीवार पर पोस्टर चिपकाया है। पोस्टर में लाल और हरे रंग की स्याही से लिखा गया है कि तीन लोग पार्टी से गद्दारी कर भाग गए हैं। उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जानी है।

आज ये ऐलान किया जा रहा है कि उन तीनों की सजा सिर्फ मौत है। उनमें से कोई भी नहीं बचेगा, उन्हें मरना होगा। नक्सलियों ने यह भी लिखा है कि उनका गांव वालों से कोई लेना-देना नहीं है। उन्हें सिर्फ वे तीन आदमी चाहिए, जिन्होंने गैंग के साथ धोखा किया है। इन लोगों ने पार्टी को लूटा है। जिस स्कूल की दीवार पर नक्सलियों ने पोस्टर चिपकाया है, उसकी दूरी पुलिस स्टेशन से सिर्फ 2 किलोमीटर है।

हमारा कमांडर आजाद हो गया, इसलिए तीनों को मरना होगा
नक्सलियों ने पोस्टर में लिखा है कि तीन गद्दारों की वजह से हमारे कमांडर को जेल जाना पड़ा। पांच साल जेल काटकर हमारा कमांडर अब आजाद हो चुका है, इसलिए अब तीनों को मरना होगा। इन तीनों ने लेवी (अपहरण के बदले मिलने वाला पैसा) की पूरी रकम का गबन किया है। उन्हें धोखे से मौत नहीं दी जाएगी, इसलिए आज ऐलान किया जा रहा है।

5 साल पहले पोस्टर चिपकाकर रेलवे बेस कैंप पर हमला किया था
पुलिस ने स्कूल की दीवार से पोस्टर हटा दिया है, लेकिन फिर भी मंगलवार सुबह ये पोस्टर देखने के बाद गांव के लोग घबरा गए हैं। दरअसल, 5 साल पहले 2016 में भी नक्सलियों ने इसी तरीके के पोस्टर चिपकाए थे। इसके बाद उन्होंने रेलवे निर्माण के बेस कैंप पर हमला कर दिया था। मंगलवार को मिले पोस्टर में कुछ डॉक्टरों से लेवी की वसूली का भी जिक्र है। पोस्टर रात के समय चिपकाए गए हैं। पुलिस जांच कर रही है कि पोस्टर किसने चिपकाए हैं।

error: Content is protected !!