जिला बिलासपुर में साहसिक खेलों की अपार संभावनाओं को मध्य नजर रखते हुए युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। पैराग्लाइडिंग जैसे साहसिक खेलों के माध्यम से भी जिला को पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने व विश्व के मानचित्र पर अलग से पहचान दिलवाने की दिशा में भी कारगर कदम उठाए जा रहे हैं। यह बात बिलासपुर सदर विधायक एवं हिमाचल प्रदेश पैराग्लाइडिंग सोसायटी के चेयरमैन सुभाष ठाकुर ने बंदला धार में राष्ट्र स्तरीय कहलूर पैराग्लाइडिंग एक्यूरैसी कप प्रतियोगिता के शुभारंभ अवसर पर कही।

उन्होंने कहा कि इस प्रकार की प्रतियोगिताओं के आयोजन से जहां एक ओर इस क्षेत्र को अलग पहचान मिली है, वहीं पर्यटकों की आमद बढ़ेगी, जिससे लोगों की आर्थिक स्थिति भी मजबूत होगी। उन्होंने कहा कि साहसिक खेलों को और अधिक मजबूती प्रदान करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय स्तर की भी प्रतियोगिताएं आयोजित करवाई जाएंगी। गोबिंद सागर झील में जल क्रीड़ाओं को बढ़ाने के लिए जेटी स्कूटर्ज, स्ट्रीमर व अन्य सुविधाएं भी उपलब्ध करवाने की दिशा में ठोस कदम उठाए जा रहे हैं। प्रदेश सरकार का इस स्थल को पैराग्लाइडिंग के लिए तकनीकी अप्रूवल प्रदान करने के लिए धन्यवाद किया।

4 महिला पायलटों सहित 48 पायलट ले रहे भाग

इस मौके पर डीसी रोहित जम्वाल ने कहा कि बंदला धार में पैराग्लाइडिंग उड़ान स्थल को विकसित करने के लिए ठोस कार्य योजना के तहत हाईड्रो इंजीनियरिंग काॅलेज के कार्पोरेट्स सोशल रिस्पांसिबिलिटी के द्वारा सरफेस मैटिंग व उत्तम किस्म की घास लगवाने तथा इस स्थल को और अधिक आकर्षक बनाने के लिए कार्य को जल्द ही अंजाम दिया जाएगा तथा अन्य मूलभूत सुविधाएं भी उपलब्ध करवाई जाएंगी। उन्होंने कहा कि यह एशिया का पहला स्थान है जहां पर एक्रोबैटिक खेल आयोजित करने के लिए प्राकृतिक तौर पर मूलभूत संसाधन उपलब्ध हैं। हिमाचल पैराग्लाइडिंग एसोसिएशन के सचिव मनोज शर्मा ने बताया कि इस प्रतियोगिता में 48 के करीब पैराग्लाइडर पायलट भाग ले रहे हैं जिसमें 4 महिला भी शामिल हैं।

डीसी की धर्मपत्नी ने भरी टैंडम उड़ान

इस मौके पर डीसी की धर्मपत्नी झूंपा चटर्जी जमवाल, एडीसी तोरुल रबीश एसडीएम सदर रामेश्वर दास, जिला भाजपा महामंत्री आशीष ढिल्लो, युवा मोर्चा मंडल अध्यक्ष विनोद ठाकुर हिमाचल पैराग्लाइडिंग एसोसिएशन के उपाध्यक्ष विशाल जस्सल, महासचिव अतुल शर्मा व कोषाध्यक्ष पुनीत चंदेल, बंदला ग्राम पंचायत के प्रधान सतीश कुमार व अन्य ग्रामीण लोग भी मौजूद रहे। इस दौरान एडीसी बिलासपुर तोरूल रबीश, डीसी की धर्मपत्नी झुंपा चटर्जी जम्वाल ने भी टैंडम पैराग्लाइडिंग के माध्यम से उड़ान भरी।

error: Content is protected !!