500- 500 रुपए लेकर बच्ची से नाना करवाता था बलात्कार, कोर्ट को सुनाई रोंगटे खड़े कर देने वाली आपबीती

Bundi: बून्दी जिले के तालेड़ा थाना क्षेत्र नाबालिग किशोरी से गैंगरेप और हत्या के आरोपियों को फांसी की सजा होने के बावजूद गैंग रेप की घटनाएं कम नहीं हो रही है. तालेड़ा थाना क्षेत्र के समीपवर्ती गांव में 12 वर्षीय छठी कक्षा की छात्रा के साथ गैंगरेप का सनसनीखेज मामला सामने आया है. 5 माह से गर्भवती पीड़ित छात्रा ने मजिस्ट्रेट के सामने बयान देते हुए आरोपियों को सख्त सजा दिए जाने की गुहार की है. घटना के बाद डरी और सहमी छात्रा को बाल कल्याण समिति की सेविका द्वारा हिम्मत दिला कर हौंसला बढ़ाया गया. पुलिस ने पीड़ित छात्रा के साथ दुराचार में सहयोग करने वाले 70 वर्षीय नाना समेत तीन जनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर जांच शुरू कर दी है.

वह चिल्लाती रही लेकिन नाना को दया नहीं आई
शराब की लत में मानवीय संवेदनाओं को तार-तार करने वाले नाना ने अपनी मंदबुद्धि बेटी को शराबी साथी के हवाले किया. नाना की भूख यहीं खत्म नहीं हुई. नाना ने अपने शराबी साथी की हवस पूरी करने के लिए 12 वर्षीय दोहिती को भी शराबी साथी के हवाले कर दिया.

पीड़िता द्वारा सुनाई गई आप बीती ने रोंगटे खड़े कर दिए
पीड़िता के अनुसार उसकी मां मंदबुद्धि है. 10 साल पहले जब मां के गर्भ में थी तब पिता की मौत हो गई. पिता की मौत के बाद से ही वह मंदबुद्धि मां के साथ नाना के यहां रह रही थी. पड़ोसी खेत में काम करने वाला आरोपी रामलाल भील(50) व नाना प्रभुलाल बागरी (70) के पास शराब पीने आता था. सरकारी खुली जगह पर झोंपड़ी बनाकर रहने वाला यह परिवार खुले आसमान के नीचे सोता था. आरोपी रामलाल नाना को शराब पिलाने के बाद रात को वहीं सोता था. कई बार उसने नाना की मौजूदगी में दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया. पीड़िता के चिल्लाने पर नाना ने कोई मदद नहीं की और कहा कि उसका साथी गरीब आदमी है कोई फर्क नहीं पड़ता. इस प्रकार एक साल से लगातार रामलाल भील पीड़िता के नाना को 5 सौ रुपए हर बार देकर पीड़िता के साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम देता रहा.

पीड़िता के साथ ज्यादती की कहानी यहीं खत्म नहीं हुई
पीड़िता की झोंपड़ी के सामने होकर गुजरने वाले अजय बैरवा नामक युवक ने भी पीड़िता को अकेली पाकर कई बार दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया. पीड़िता के अनुसार अजय बकरियां चराने जाता था. इसी दौरान उसे डरा धमकाकर व बहला-फुसलाकर आम के पेड़ के नीचे ले जाता और दुष्कर्म करता. किसी को नहीं बताने की धमकी देकर अजय बैरवा ने भी कई बार पीड़िता के साथ दुष्कर्म किया. सरकारी स्कूल में छठी कक्षा में पढ़ने वाली पीड़िता की सोमवार को स्कूल में तबीयत खराब हो गई. महिला संस्था प्रधान ने पीड़िता को अस्पताल दिखाया, जहां डॉक्टर ने उसके गर्भवती होने का खुलासा किया. हालात की गंभीरता को देखते हुए संस्था प्रधान ने तुरंत पुलिस को सूचना दी. घटना की सूचना मिलते ही सीआई दिग्विजय सिंह व महिला कांस्टेबल के साथ मौके पर पहुंचे. पीड़िता को थाने लाकर सोमवार देर शाम मामला दर्ज किया. दुष्कर्म की वारदात से डरी, सहमी पीड़िता को बाल कल्याण समिति के समक्ष पेश करने पर नारी निकेतन की समाजसेवी कार्यकर्ताओं ने पीड़िता को हौंसला दिया.

मेडिकल जांच करवाया
मंगलवार को पुलिस ने पीड़िता की मेडिकल जांच करवाकर उपचार शुरू किया. वीडियोग्राफी बयान करवाएं. बुधवार सुबह न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने पीड़िता के बयान दर्ज करवाए गए. जिसमें उसने अपनी दर्दनाक कहानी का खुलासा किया.

24 घंटे में पुलिस ने आरोपियों को धर दबोचा
12 वर्षीय छठी कक्षा की छात्रा के साथ गैंगरेप की घटना की जानकारी मिलने के 24 घंटे के अंदर पुलिस में घटना से जुड़े तीनों आरोपियों को धर दबोचा. पुलिस द्वारा त्वरित कार्रवाई करते हुए स्पेशल और डीएनए के सैंपल भी जांच के लिए तैयार कर लिए गए हैं. डीएनए टेस्ट के बाद पीड़िता को गर्भवती करने वाले आरोपी का खुलासा होगा. पीड़िता की निशानदेही पर पुलिस ने प्रकरण से जुड़े कई अहम सबूत इकट्ठे किए हैं. इसके अलावा पीड़िता के कपड़े और अन्य चीजें जब्त कर आरोपियों से प्रारंभिक पूछताछ की, जिसमें आरोपियों ने घटना का सत्यापन किया. घटना को अंजाम दिलाने वाले नाना ने सब कुछ शराब के नशे में होना बताया. वहीं रामलाल मीणा ने वारदात को कबूल कर नशे की लत को जिम्मेदार बताया. पुलिस पूछताछ में आरोपियों के चेहरे पर कोई शिकन नहीं थी. उन्होंने बड़ी सहजता से संपूर्ण घटना को स्वीकार कर गलती होना बताया.

सात दिन बाद कर दी जाएगी आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट पेश
एसपी जय यादव के निर्देशन में सीआई दिग्विजय सिंह ने घटना की जानकारी मिलने के बाद अनुसंधान को 36 घंटे में पूर्ण कर लिया. इन्होंने कहा कि जरूरी दस्तावेज व जांच रिपोर्ट आने के साथ ही 7 दिन के अंदर न्यायालय में आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट पेश कर दी जाएगी.

न्यायालय ने गर्भपात की मंजूरी दी
5 माह के गर्भ को धारण करने वाली पीड़िता की हालत को देखते हुए बाल कल्याण समिति व पुलिस की प्रार्थना पर पीड़िता के परिजनों की सहमति के बाद सक्षम न्यायालय ने पीड़ित छात्रा के गर्भपात को मंजूरी दी है. पुलिस ने बाल कल्याण समिति के माध्यम से पीड़िता को अस्पताल में भर्ती करा कर गर्भपात कराने की कार्रवाई शुरू कर दी है.

पत्नी भाग गई तो छात्रा को हवस का शिकार बनाया
गैंगरेप का मुख्य आरोपी 50 वर्षीय रामलाल भील के अनुसार 10 वर्ष पहले उसकी पत्नी किसी के साथ भाग गई थी. उसके बाद वह अकेला था. पीड़ित छात्रा के नाना के साथ अक्सर शराब पिया करता था. जब भी वह पीड़िता के साथ दुष्कर्म करता, उससे पहले पीड़िता का नाना उससे शराब के लिए 500 रुपए लेता था.

मंदबुद्धि मां बयान देने की स्थिति में नहीं
गैंगरेप की शिकार पीड़ित छात्रा की मंदबुद्धि मां उसके साथ हुई दुष्कर्म की वारदात का खुलासा करने की स्थिति में नहीं है, लेकिन पीड़ित छात्रा ने अपनी मां के साथ भी कई बार दुष्कर्म होने की बात का खुलासा किया है.

नाना को अंतिम सांस तक जेल में रखा जाए
समाजसेवी महिला संगठनों ने घटना पर गहरा दुख जताते हुए घटना के सूत्रधार नाना को अंतिम सांस तक जेल में रखने के साथ गैंगरेप के आरोपियों को फांसी की सजा दिए जाने की मांग की है. भाजपा महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष नूपुर मालव ने दुष्कर्म की बढ़ती वारदातों पर गहरी चिंता जताते हुए पुलिस द्वारा की गई त्वरित कार्रवाई के लिए सीआई दिग्विजय सिंह व उनकी पूरी टीम का आभार जताया है. 36 घंटे से लगातार प्रकरण के अनुसंधान व सबूत इकट्ठा करने में जुटी तालेड़ा पुलिस ने घटना से जुड़े सभी पहलुओं पर बारीकी से जांच की है.

1 महीने में नाबालिग के साथ दुष्कर्म की चौथी वारदात
थाना क्षेत्र में नाबालिक के साथ दुष्कर्म की वारदातों में लगातार इजाफा हो रहा है. पिछले एक माह में नाबालिक लड़कियों के साथ हुई दुष्कर्म की चौथी घटना होने के बाद क्षेत्रवासी अचंभित है.

SHARE THE NEWS:
error: Content is protected !!