विक्रमादित्य को लगा है गहरा आघात, मेरी संवेदनाएं हमेशा उनके साथ- डॉ हंस राज

Read Time:4 Minute, 9 Second

हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह पर टिप्पणी पर भाजपा विधायक और विधानसभा उपाध्यक्ष हंस राज घिरते नजर आ रहे हैं। टिप्पणी को लेकर एक वीडियो वायरल होने के बाद अब मामले में पूर्व सीएम के बेटे विक्रमादित्य सिंह ने भी बयान जारी किया है। इससे पहले, विधानसभा के डिप्टी स्पीकर और चंबा के चुराह से भाजपा विधायक हंसराज ने अपनी टिप्पणी पर स्पष्टीकरण भी दिया था।

क्या है पूरा मामला

वीडियो के अनुसार, चंबा के चुराह से विधायक हंस राज हाल ही में एक मंडली के साथ चुराह में मुखातिब हुए। फेसबुक लाइव में वह स्थानीय भाषा में बात कर रहे हैं। इसमें वह कहते हैं कि इनको लगता है कि कांग्रेस आएगी? लेकिन कांग्रेस कहां से आएगी, जो एक उम्मीद थी, वो कल-परसों खत्म हो गई। वीरभद्र सिंह चला गया। अब उनके यहां छिंज (कुश्ती प्रतियोगिता) छिड़ जाएगा। बता दें कि आठ जुलाई 2021 को वीरभद्र सिंह का बीमारी के चलते शिमला में निधन हो गया था।

क्या कहते हैं विधायक विक्रमादित्य

पूर्व सीएम के बेटे और कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह ने फेसबुक पर लिखा, “हमारी संस्कृति और सभ्यता हमें यह नहीं सिखाती, हमें एक जनप्रतिनिधि से यह उमीद नहीं थी, वह भी हिमाचल विधान सभा के उपाध्यक्ष से।” इसके अलावा, विक्रमादित्य सिंह ने लिखा कि श्री हंस राज जी, विधायक के घर में संस्कारों की कमी लगती है। हमारी संवेदनाएं। बता दें कि कुछ माह पहले विधानसभा परिसर में राज्यपाल से बदसलूकी पर विक्रमादित्य सिंह और हंसराज में लगातार तीखी बयानबाजी होती रही थी। अब दोनों फिर आमने-सामने हैं।

विधानसभा उपाध्यक्ष हंस राज ने कहा

उन्होंने फेसबुक लाइव के दौरान कहा की मेरी बातों को सोशल मीडिया में बिना बजह तूल दिया जा रहा पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र जी पूरे प्रदेश के लिए एक अच्छे और प्रभावशाली नेता रहे हैं इनके लिए मेरे द्वारा हमेशा आदर सम्मान रहा है।

हंस राज ने ये भी कहा था कि कुछ लोगों को चुराही भाषा का ज्ञान नहीं है उन्होंने कोंग्रेस के नेताओ को नसीहत देते हुए कहा की या तो किसी बोली का शुध्द अंत करण कर लें या सीख लें पूर्व मुख्य मंत्री वीरभद्र सिंह कोंग्रेस पार्टी की धुरी रहे हैं। जिनकी वजह से कोंग्रेस पार्टी सरकार कई बार अपनी सरकार बनाने में सफल रही है। लेकिन अब स्थिति ऐसी है कि कांग्रेस खेमे में हलचल मच गई है जिसे मेरे द्वारा एक छिन्ज का नाम दिया गया। क्योंकि कांग्रेस अलग-अलग धड़ों में अपना राग अलाप रही है। उन्होंने कहा कि मैं आज भी अपने उस ब्यान पर अडिग हूँ।

आज फिर राइट न्यूज़ इंडिया से हुए वार्तालाप में उन्होंने कहा कि मैं समझता हूँ कि उन्हें पूर्व मुख्यमंत्री व अपने पिता के स्वर्गवास से गहरा मानसिक आघात पहुँचा है। मेरी संवेदनांए हमेशा उनके साथ हैं।

error: Content is protected !!
Hi !
You can Send your news to us by WhatsApp
Send News!