गुजरात की राजधानी गांधीनगर में शनिवार को एक हृदयविदारक घटना सामने आई है। यहां अडालज-अंबापुर रोड के पास एक कबाड़ इकट्ठा करने वाली महिला ने दम तोड़ दिया। उसका 5 साल का बेटा शव के साथ खेलता रहा। कुछ देर बाद जब बेटा रोने लगा तो राहगीरों को महिला की हालत पर शक हुआ। जांच करने पर महिला की मौत होने का शक हुआ तो पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने मामला दर्ज कर शव पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।

बेटे को हाथ ठेले पर बैठाकर कबाड़ इकट्ठा करने निकली थी मां
जानकारी के मुताबिक, गांधीनगर के अडालज शनिदेव मंदिर के पास श्रमिक पति-पत्नी रामनाथ जोगी और मंजू देवी तीन बच्चों के साथ रहते हैं। पति रोज की तरह सुबह काम पर निकल गया था। वहीं, मंजू अपने 5 साल के बेटे को लेकर हाथ ठेले से कबाड़ इकट्ठा करने निकल गई। इसी दौरान मंजू की तबीयत बिगड़ गई। वह सड़क किनारे चक्कर खाकर गिर पड़ी, जहां उनकी मौत हो गई।

राहगीरों ने पुलिस को फोन किया
बेटा काफी देर तक मां के शव के साथ ही खेलता रहा और कुछ देर बाद मां को उठाने के लिए रोने लगा। उसे रोता देख कुछ राहगीरों को शक हुआ तो उन्होंने महिला को उठाने की कोशिश की। तब पता चला कि उसकी सांसें थम चुकी है। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने ही मंजू के पति को सूचना दी और इसके बाद शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया।

error: Content is protected !!