Right News

We Know, You Deserve the Truth…

मध्यप्रदेश में मां के शव को बाइक पर ले जाने का वीडियो वायरल, हॉस्पिटल ने शव वाहन देने से किया था इंकार


RIGHT NEWS INDIA


मध्य प्रदेश में स्वास्थ्य व्यवस्थाओं की बदहाली किसी से छुपी नहीं है। आए दिन अस्पतालों में मरीजों और उनके परिजनों को बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। रीवा के मऊगंज कस्बे से एक बेहद शर्मनाक मामला सामने आया है। कस्बे के सिविल अस्पताल में सांप के कांटने से एक महिला की मौत के घंटो बाद भी परिजनों को शव वाहन नहीं मिला। मृतक महिला का बेटा कई बार अस्पताल प्रबंधन के सामने गिड़गिड़ाया लेकिन किसी ने भी कोई मदद नहीं की। अंत में बेटे ने एक आदमी की मदद से बाइक बुलवाई और पन्नी में शव को लपेटकर घर की ओर रात 10 बजे रवाना हो गया।

इस दौरान अस्पताल में मौजूद सभी लोग तमाशा देखते रहे, लेकिन मदद के लिए कोई सामने नहीं आया। बेटा जब मां को लेकर रास्ते से जा रहा था उसी दौरान एक व्यक्ति ने ये वीडियो बनाई और वायरल कर दी तब यह घटना सबके सामने आई।

जहरीली सांप के काटने से हुई मौत

दरअसल मंगलवार की दोपहर मृतका श्यामवती जायसवाल को एक जहरीली सांप ने काट लिया था। परिजन फौरन श्यामवती को एंबुलेंस की मदद से सिविल अस्पताल मऊगंज में इलाज के लिए ले आए। जहां श्यामवती की दोपहर करीब 2 बजे इलाज के दौरान मौत हो गई। डॉक्टरों ने पोस्टमार्टम कर शाम 6 बजे शव परिजनों को सौंप दिया।

थक-हारकर मां के शव को बाइक पर घर लाया बेटा

बेटे के पास मां को घर तक ले जाने का कोई साधन नहीं था इसलिए वो शव वाहन की तलाश में जुट गया, शाम 6 से रात के 10 बज गए शव वाहन ढूंढते ढूंढते लेकिन शव वाहन नहीं मिला। इस दौरान बेटे ने अस्पताल प्रबंधन से लेकर सामाजिक कार्यकर्ता सबको मदद के लिए फोन किया। लेकिन कोई मदद के लिए सामने नहीं आया। जब सब जगह हाथ पैर मारने के बाद सफलता नहीं मिली तो उसने एक परिचित की मदद से पन्नी में शव को लपेटा और बाइक पर रख अपने घर के लिए रवाना हो गए।

अस्पताल से महज 4 किमी दूर है घर

मृतका के बेटे उदयभान जायसवाल ने बताया कि सिविल अस्पताल से घर केवल 4 किमी दूर है। जब मैं शव लेकर अपने मोहल्ले के पास पहुंचा तो वहां पर मौजूद लोगों ने बाइक में आने का कारण पूछा। तब बेटे ने बताया कि शव वाहन की कई घंटों तक मांग करने पर भी नहीं मिला। डॉक्टरों ने कहा था कि शव आपको अपने स्तर पर ले जाना होगा। इसी बीच बातचीत का कुछ लोगों ने मोबाइल में वीडियो बनाकर सोशल मीडिया में वायरल कर दिया था।


Advertise with US: +1 (470) 977-6808 (WhatsApp Only)


error: Content is protected !!