Right News

We Know, You Deserve the Truth…

कांगड़ा में सबसे ज्यादा लोगों का घरों में हो रहा इलाज 30528 मरीज होम आइसोलेट

हिमाचल प्रदेश में होम आइसोलेशन में रहने वाले पीडि़तों की संख्या लगातार बढ़ रही है। एक तरफ जहां अस्पतालों में कोरेना मरीजों की भीड़ बढ़ रही है, तो वहीं घरों में भी रहकर लोग स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं। अब सरकार ने एक बार फिर से कहा है कि होम आइसोलेट लोगों को नियमों का पूरी तरह से पालन करना होगा, वरना उनके खिलाफ कार्रवाई करने का प्रावधान है। राज्य में सरकार ने भी इसको प्राथमिकता दी है कि लोग घरों में होम आइसोलेट रहें, ताकि अस्पताल में भीड़ न बढ़े। बता दें कि प्रदेश में इस समय 30528 लोग होम आइसोलेशन में हैं, जिनकी पूरी जानकारी प्रशासन के पास है।

स्थानीय प्रशासन ने इसका पूरा ब्यौरा रखा है और समय-समय पर इनकी चैकिंग भी की जा रही है। वैसे आंकड़ा तो इससे कहीं अधिक होगा, लेकिन 30528 वे लोग हैं, जिन्होंने प्रशासन को इसकी जानकारी दे रखी है। बड़ी संख्या में लोग घरों में ठीक भी हो रहे हैं। दो-तीन दिनों में काफी ज्यादा लोग ठीक हुए हैं। होम आइसोलेशन में रहने वाले लोगों को लगातार डाक्टरी सलाह भी दी जा रही है, जिसको अपनाकर वे लोग स्वस्थ हो रहे हैं। बाहर से आने वाले लोगों को नियमों के तहत होम आइसोलेशन में जाने को कहा गया है, जो आंकड़ा अलग है। (एचडीएम)

किस जिला में कितने मरीज हो आइसोलेट

जिलावार होम आइसोलेशन के आंकड़ों की बात करें तो प्रदेश में कांगड़ा जिला में सबसे अधिक होम आइसोलेट लोग हैं, जिनकी संख्या 9408 है। दूसरे जिलों की बात करें तो बिलासपुर जिला में 2614 लोग होम आइसोलेशन में रह रहे हैं, तो वहीं चंबा जिला में 1364 लोग होम आइसोलेट हुए हैं। हमीरपुर में 2482 लोग इस समय घरों में स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं, तो वहीं किन्नौर जिला में यह आंकड़ा 373 का है। कुल्लू जिला में 727 लोगों को होम आइसोलेशन मिला है, तोे वहीं लाहुल स्पीति में 114, मंडी में 3653 लोग होम आइसोलेट हैं। शिमला में इनकी संख्या 2346 है, जबकि सिरमौर में 2627, सोलन में 3363 तथा ऊना जिला में 1457 लोग होम आइसोलेशन में रह रहे हैं।

error: Content is protected !!