उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले में हत्या की सनसनीखेज वारदात सामने आई है। जिले में होली के दिन अपने माता-पिता के घर जाने से रोका तो एक महिला ने तीन साल के बेटे की चाकू मारकर हत्या कर दी। इसके बाद में खुद अपनी जीवनलीला समाप्त करने की कोशिश की। वहीं घरवालों ने चुपके से बच्चे के शव को दफना दिया। सूचना पर पुलिस ने घरवालों को हिरासत में ले लिया। साथ ही बच्चे के शव को निकाल कर पोस्टमॉर्टम की तैयारी कर रही है।

पुलिस के मुताबिक, यह घटना प्रतापगढ़ के बैजनाथ गांव में रविवार रात को हुई। केश कुमारी नामक की महिला ने अपने बेटे युग पर चाकुओं से कई वार कर दिये। इससे बच्चे की मौके पर ही मौत हो गई। इसके बाद महिला ने खुद अपना गला काटने की कोशिश की, लेकिन उसे उसके ससुराल के लोगों और पड़ोसियों ने बचा लिया।

मायके जाना चाहती थी महिला, पति ने किया मना
पुलिस ने बताया, उत्तर प्रदेश के बैजनाथ गांव के रहने वाले राकेश वर्मा एक मजदूर है। वह अपने घर से दूर एक नया घर बना रहा था। उनकी पत्नी केश कुमारी होली के लिए अपने परिवार से मिलने जाना चाहती थीं लेकिन उन्होंने उसे जाने से मना कर दिया। इसके बाद दोनों के बीच विवाद हो गया। पिता और पुत्र नए घर में सोने चले गए और केश कुमारी और उसकी सास पुराने घर में ही सो गईं।

तीन साल के बेटे पर चाकू से किया हमला
पुलिस ने बताया कि रविवार देर रात केश कुमारी नए घर में आई और अपने बेटे को चाकू से हमला करना शुरू कर दिया। फिर अपना गला काटने की कोशिश की। घटना के बाद, परिवार ने चुपचाप बच्चे को अपनी जमीन में दफन कर दिया।

अंतू कोतवाली पुलिस ने सोमवार शाम को घटना की जानकारी ली और मां को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया। पति और परिवार के अन्य सदस्यों को भी हिरासत में लिया गया है। पुलिस प्रवक्ता ने कहा, बच्चे के शव को फिर से निकाला जाएगा और पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया जाएगा।

error: Content is protected !!