Right News

We Know, You Deserve the Truth…

बीबीएन में अपराधी बेखौफ, पुलिस और सुरक्षा व्यवस्था के लिए बन रहे चुनौती


प्रदेश के प्रमुख औद्योगिक क्षेत्र बीबीएन में आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों के बुलंद होते हौसलों ने इलाकावासियों का सुख चैन छीन लिया है। हालात यह है कि जनता खौफ के साए में जी रही है और खाकी बेकाबू अपराधियों के आगे बेदम साबित हो रही है। जिस तरह पुरानी रंजिश और चिट्टे के कारोबार की वजह से दिन दहाड़े नालागढ़ के खेड़ा में गैंगवार हुई है उससे औद्योगिक नगरी में बिगड़ते माहौल की तरफ इशारा कर दिया है।

कोरोना कर्फ्यू के दौरान सरेआम हथियार लेकर घूम रहे आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों दवारा अंजाम दी गई फायरिंग की इस वारदात से कानून व्यवस्था पर भी सवाल उठने लगे है, आखिर कफ्र्यू के माहौल में भी यह लोग इस कदर बेपरवाह होकर चहलकदमी कर रहे हैं तो सामान्य दिनों में तो स्थिति बद से बदतर हो जाएगी।

फिलहाल स्थानीय बाशिंदे खाकी की नाक तले घटती गोलीकांड की घटनाओं से खुद को असुरक्षित महसूस करने लगे हैं, और पुलिस प्रशासन से सख्ती बढ़ाने हुए आपराधिक व असामाजिक तत्त्वों की नुकेल कसने की मांग की है। यहां उल्लेखनीय है कि कोरोना कफ्र्यू के बावजूद बद्दी-नालागढ़ एनएच पर खेड़ा में दिन दहाड़े हुई फायरिंग और मौत के खूनी खेल ने पुलिस जिला प्रशासन के चाक चौबंद व्यवस्था के दावों की पोल खोल कर रख दी है,बेशक कोरोना कफ्र्यू के दौर में चप्पे-चप्पे पर पुलिस का पहरा है, कहने को बीबीएन की सीमाएं सील हैं ,दिन रात पुलिस गश्त पर है लेकिन इसके बावजूद आपराधिक प्रवृत्ति के लोग सरेआम दनादन गोलियां बरसा कर चले गए। एसपी बद्दी रोहित मालपानी ने बताया कि पुलिस की जांच सही दिशा में चल रही है।

पुलिस की विभिन्न टीमें पड़ोसी राज्य पंजाब में संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही हैं। जल्द ही हत्या के आरोपी सलाखों के पीछे होंगे। एसपी ने कहा कि पुलिस पर किसी तरह का कोई दबाव नहीं है।

पोस्टमार्टम पर हुआ हंगामा
खेड़ा में एनएच पर सरेआम गोलीबार के बीच सीने में गोली लगने से मौत का शिकार हुए मृतक सिमरण का पोस्टमार्टम आईजीएमसी में होगा। पुलिस ने मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए आईजीएमसी शिमला भेज दिया है। वहीं मंगलवार को मृतक युवक के परिजनों ने शिमला में पोस्टमार्टम को लेकर जहां सवाल उठाए वहीं पुलिस के समक्ष हंगामा भी किया। परिजनों का कहना था कि पोस्टमार्टम यहां भी करवाया जा सकता था। वहीं अभी तक सिमरण के कातिलों का कोई सुराग न लगने परिजनों ने पुलिस की जांच और कार्रवाई भी सवाल उठाए। एसडीएम नालागढ़ महेंद्र पाल गुर्जर, डीएसपी विवेक चाहल व तहसीलदार रिश्व शर्मा ने मौके पर जाकर परिजनों को शांत किया। इस दौरान परिजनों व समर्थकों ने यह भी आरोप लगाया कि सत्ताधारी नेताओं के राजनीतिक दबाब के चलते पुलिस दवारा सही कार्रवाई नहीं की जा रही है।

बीबीएन अपराधियों के निशाने पर
पंजाब-हरियाणा की सरहदों से सटा प्रदेश का प्रमुख औद्योगगिक क्षेत्र बीबीएन आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों के निशाने पर है। बैखोफ अपराधी जिला पुलिस प्रशासन की चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था के तमाम दावे-दलीलों को धत्ता बताने के साथ-साथ अब उन्हें सरेआम चुनौंती देने पर उतारू है। गोलीकांड़ जैसे संगीन जुर्म की आए दिन घट रही वारदातों ने पुलिस जिला बद्दी प्रशासन के तमाम दावे दलीलों की धज्जियां उड़ा कर रख दी है। जिस तरह आपराधिक प्रवृति के लोग सरेआम आपराधिक वारदातों को अंजाम देकर फरार होते रहे है, उससे यह साबित हो रहा है कि औद्योगिक नगरी में इन्हें कानून व्यवस्था का कोई डर नहीं है।

error: Content is protected !!