महेंद्र राणा ने कहा कि भारत की जनवादी नौजवान सभा जिला कमेटी मंडी न्यू पेंशन स्कीम कर्मचारी महासंघ(NPSEA) द्वारा अपनी मांगों को लेकर किए जा रहे आंदोलन का समर्थन करती है। गौरतलब है कि महासंघ पिछले कई दिनों से शिमला में क्रमिक अनशन करते हुए आंदोलन कर रहे हैं जिनकी मुख्य मांग नई पेंशन स्कीम समाप्त करते हुए पुरानी पेंशन स्कीम बहाल करो व केंद्र सरकार की 2009 की अधिसूचना की तर्ज पर सेवाकाल में मृत्यु होने पर परिवार को पुरानी पेंशन स्कीम के अंतर्गत लाया जाए है। नौजवान सभा यह मानती है कि कर्मचारियों का यह आंदोलन अपनी जायज मांगों को लेकर है क्योंकि यदि मात्र 2 दिन विधायक या सांसद रहने पर नेताओं को भारी- भरकम पेंशन मिल सकती है तो जो कर्मचारी अपनी पूरी जिंदगी हमारे देश की सरकार व देश को चलाने में अपनी सेवाएं देता है तो निश्चित तौर पर बुढ़ापे में उसे अपने बुढ़ापे को सुरक्षित करने के लिए पेंशन मिलनी चाहिए।

नई पेंशन स्कीम कर्मचारियों के साथ पूरी तरह से छलावा है इस स्कीम के तहत कर्मचारियों की गाढ़ी मेहनत की कमाई को मात्र चंद पूंजीपतियों के लिए दिया जाना गलत है। इसलिए नौजवान सभा प्रदेश व केंद्र सरकार से मांग करती है कि शीघ्र अति शीघ्र कर्मचारियों के आंदोलन को गंभीरता से लेते हुए इनकी इन मांगों को पूरा किया जाए और कर्मचारियों की पुरानी पेंशन स्कीम को बहाल किया जाए।

You have missed these news

error: Content is protected !!