हिमाचल प्रदेश के चार नगर निगमों के महापौर और उप महापौर की ताजपोशी की प्रक्रिया शुरू हो गई है। इसी के तहत नगर निगम मंडी के पहले महापौर की कुर्सी दीपाली जसवाल ने संभाली है। उप महापौर पूर्व नगर परिषद उपाध्यक्ष वीरेंद्र भट्ट बने हैं। मंडी नगर निगम चुनावों में भाजपा के 15 में से 11 पार्षद जीते हैं। पेशे से अधिवक्ता दीपाली थनेड़ा वार्ड से पहली बार निर्वाचित हुई हैं। वीरेंद्र भट्ट पुरानी मंडी वार्ड से दूसरी बार चुनाव जीते हैं। इन्हें अनिल शर्मा का खास माना जाता थाए लेकिन अनिल के कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आने पर इन्होंने भी भाजपा का दामन थाम लिया था।

पिछले पांच दिनों से काफी लॉबिंग चल रही थी लेकिन सोमवार को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने ही सभी 11 जीते पार्षदों से व्यक्तिगत राय लेकर फैसला सुरक्षित रखा और आज शपथ से 10 मिनट पूर्व ही उन्होंने नाम की घोषणा की। बता दें कि दूसरी बार सुहड़ा वार्ड से पार्षद बनी नेहा और पहली बार सनयार्ड वार्ड से जीते वीरेंद्र आर्या भी मेयर पद की रेस में थे लेकिन आखिरी मौके पर वे रेस से बाहर हुए और मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने दीपाली जसवाल के नाम पर मुहर लगाई। मंगलवार सुबह 11 बजे सभी 15 पार्षदों ने एक साथ शपथ ली और उसके बाद चुनाव प्रक्रिया शुरू हुई। वहीं, पूनम बाली पालमपुर नगर निगम की मेयर चुनी गई हैं। जबकि अनीश नाग को डिप्टी मेयर बनाया गया है। उधर, नगर निगम धर्मशाला में भाजपा के ओंकार नेहरिया महापौर बने हैं। पहले वह नगर निगम में उप महापौर रह चुके हैं। सोलन नगर निगम में महापौर व उप महापौर की ताजपोशी होनी है।

error: Content is protected !!