आम आदमी पार्टी अध्यक्ष अनूप केसरी ने आज शिमला में प्रेस विज्ञपति जारी करते हुए कहा है कि आम आदमी पार्टी के हर सदस्य, कार्यकर्ता व पदाधिकारियों को पार्टी के संविधान व विचारधारा का पालन करना होगा। साथ ही यह भी सीधे शब्दों में कहा कि पार्टी विचार धारा व अनुसाशन को भंग करने वालों के साथ सख्ती से पेश आया जाएगा। केसरी ने अपने संदेश में कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष अरविंद केजरीवाल महज एक अध्यक्ष ही नहीं बल्कि पार्टी के ब्रांड अम्बेसडर व पार्टी का आइकोनिक चेहरा हैं, पार्टी शुरू से लेकर ही भ्रष्टाचार विरोधी विचार धारा से प्रेरित है व पार्टी में भ्रष्ट व अनुसाशनहीन लोगों को कोई जगह नही है।

ज्ञात रहे कि 31 जनवरी में पार्टी ऑफिस के उदघाटन के समय मे पार्टी विरोधी गतिविधियों करने के लिए निक्का सिंह पटियाल व जयवंती की पार्टी की सदस्यता खत्म कर इन्हें 6 वर्ष के लिए पार्टी से बर्खास्त कर दिया था। इस से पहले पार्टी ने विशाल राणा व अपूर्वा मिश्रा को अनुसाशनहीनता के लिए पार्टी व इनके पदभार से निष्काषित कर दिया था और अब केडी राणा, सचिन शर्मा, जगत निशा, एन के पंडित, एन के महाजन, शिवराम, नसीब सिंह कोटिया, टी पी पांडेय, तिलक राज को पार्टी विरोधी गतिविधियों व शीर्ष नेतृत्व के विरुद्ध गलत बयानबाजी करने व पार्टी सदस्यों में अविश्वास फैलाने के लिए पार्टी सदस्य्ता खत्म कर स 6 वर्ष के निष्काषित कर दिया गया है। अतः सभी को ज्ञात रहे कि यदि यह कोई भी कार्य या कोई गतिविधि करते हैं तो पार्टी इसके लिए जिम्मेदार नही रहेगी।

म आदमी पार्टी अध्यक्ष अनूप केसरी ने अपने संदेश में सभी कार्यकर्ताओं, सदस्यों व पदाधिकारियों को अग्रिम कार्यों के लिए शुभकामनाएं दी व साथ ही हिदायत भी दी कि पार्टी की विचारधारा के अनुसार कार्य करें व हिमाचल में पार्टी को मजबूती दें। साथ ही कहा कि भविष्य में यदि कोई इस तरह से कार्यवाही करता है तो उस पर भी कड़ी कार्यवाही करने से पार्टी कभी भी नहीं हिचकिचायेगी।

error: Content is protected !!