दिल्ली सरकार के उपमुख्यमंत्री और वित्तमंत्री मनीष सिसोदिया ने मंगलवार को 69,000 करोड़ रुपए का बजट पेश किया। इस बजट को देशभक्ति की थीम पर पेश किया गया है। पिछले बजट से 2021-22 के बजट में चार हजार करोड़ की बढ़ोतरी की गई है।

बजट में 2047 तक दिल्ली की प्रति व्यक्ति आय सिंगापुर के बराबर करने का लक्ष्य रखा गया है। बजट पेश करते हुए डिप्टी CM सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली के सभी सरकारी अस्पतालों में कोरोना वैक्सीन फ्री लगाई जाएगी। इसके लिए 50 करोड़ का बजट अलग से अलॉट किया गया है। इसके साथ ही रोजाना वैक्सीनेशन की कैपेसिटी को 45 हजार से बढ़ाकर 60 हजार किया जाएगा। बजट में दिल्ली के सरकारी स्कूलों में देशभक्ति पर अलग से पीरियड रखने की घोषणा भी की गई है।

बजट में देश की आजादी के 75 साल पूरे होने का जश्न मनाने की घोषणा भी की गई है। ये जश्न 12 मार्च से शुरू होगा। सिसोदिया ने दिल्ली के 500 इलाकों में हाई मास्ट लाइट्स के लिए 45 करोड़ रुपए अलॉट किए। दिल्ली सरकार स्वतंत्रता सेनानी भगत सिंह के जीवन पर 75 सप्ताह तक लगातार कार्यक्रम कराने जा रही है। इसके लिए 10 करोड़ रुपए का बजट अलग से जारी किया गया है। सिसोदिया ने अपने बजट भाषण में बताया कि इस साल का बजट 2020-21 की तुलना में 6.1 प्रतिशत ज्यादा है।

बजट का एक चौथाई हिस्सा शिक्षा पर खर्च करेगी दिल्ली सरकार

दिल्ली सरकार ने वर्ल्ड क्लास शिक्षा के लक्ष्य को लेकर 16,377 करोड़ रुपए शिक्षा के लिए जारी किए हैं। ये टोटल बजट का एक चौथाई हिस्सा है। केजरीवाल सरकार ने अनधिकृत कॉलोनियों के विकास पर 1,550 करोड़ खर्च करने का निर्णय लिया है। गरीबों के लिए रिहायशी क्षेत्र बनाने ‘आवास विकास योजना’ के जरिए सरकार 5,328 करोड़ खर्च करेगी। यमुना नदी की सफाई के लिए 2,074 करोड़ जारी किए गए हैं। हेल्थ विभाग के लिए 9,934 करोड़ तो ट्रांसपोर्ट के लिए 9,394 करोड़ अलॉट किए गए हैं।

टैबलेट पर पेश किया बजट

कोविड-19 के चलते डिप्टी CM ने टैबलेट के जरिए दिल्ली का बजट पेश किया। बजट पढ़ने के लिए सभी विधायकों को भी टैबलेट दिए गए थे। बजट पेश करते हुए सिसोदिया ने कहा,’ जिस सदन में हम आज बैठे हैं, वो 1912 से 1926 तक अखंड भारत का संसद भवन रहा है। मैं स्वतंत्रता सेनानियों को नमन करते हुए ये बजट पेश कर रहा हूं। 15 अगस्त 2022 को 75वे स्वतंत्रता दिवस है, जिसे पूरे साल आजादी महोत्व के रूप में मनाया जाएगा। 75 सप्ताह तक चलने वाला ये उत्सव 12 मार्च से शुरू होकर 15 अगस्त 2022 तक चलेगा।

पांच पॉइंट में समझिए दिल्ली सरकार का बजट

1. इस बजट में दिल्ली का सरकार ने देशभक्ति पर ज्यादा जोर दिया है। एक तरफ देशभक्ति पर आयोजन के लिए 10 करोड़ रुपए अलॉट किए गए हैं, तो दूसरी तरफ दिल्ली के सरकारी स्कूलों में देशभक्ति पर अलग से पीरियड रखने की बात भी कही है।

2. सरकारी अस्पतालों में फ्री वैक्सीनेशन की घोषणा कर सरकार ने दिल्ली के लोगों के स्वास्थ्य के प्रति सजगता दिखाने की कोशिश की है।

3. दिल्ली सरकार ने 2047 तक प्रति व्यक्ति आय बढ़ाने की घोषणा की है, जिसमें 16 गुना वृद्धि करनी होगी। ये फैसला आर्थिक विकास को लेकर केजरीवाल सरकार का विजन दर्शाता है।

4. दिल्ली के 500 इलाकों में हाई मास्ट लाइट लगाने की घोषणा की गई है। यह आम लोगों की रोजमर्रा की जरूरतों को लेकर किए जाने वाले सरकार के कार्यों को बताता है।

5. दिल्ली के डिप्टी CM और वित्तमंत्री मनीष सिसोदिया ने टैबलेट पर बजट पढ़कर कोरोना महामारी के प्रति जागरूकता का परिचय दिया है।

You have missed these news

error: Content is protected !!