Right News

We Know, You Deserve the Truth…

लडभड़ोल; मंगड़ोल गांव में कोविड मरीज की मौत के बाद वहां के लोगों से हो रहा अमानवीय व्यवहार

हिमाचल में कोरोना मरीजों को राम भरोसे छोड़ा जा रहा है। ना उनके खाने पीने की व्यवस्था की जा रही है और ना ही उनका ख्याल रखने के लिए कोई सामने आ रहा है। ऐसा ही ताजा मामला लडभड़ोल के मंगड़ोल गांव से निकल कर सामने आया है। जानकारी के मुताबिक पिछले दिनों एक कोविड पॉजिटिव मरीज की मौत के बाद से यहां स्थिति बिगड़ गई है। इलाके में 12 के आस पास कोविड पॉजिटिव मरीज निकल कर सामने आए है।

जानकारी के मुताबिक पिछले सोमवार को वहां कोरोना मरीज की मौत हो गई थी। जिसके चलाते मंगड़ोल गांव पूरी तरह सील कर दिया गया था और गांव वालों की मांग पर वहां सभी के कोविड टेस्ट करने के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम भी आई थी। लेकिन कुछ कारणों के चलते केवल कुछ ही गांववासियों के टेस्ट हो पाए। इस गांव के लोगों ने अपनी समस्या बताते हुए कहा कि वह लोग प्रशासन का सहयोग करने को तैयार है लेकिन उनके पास खाने पीने का सामान नही है। जिसके चलते अगर वह आसपास की दुकानों में जा रहे है तो उनके साथ बेहद अपमानजनक व्यवहार किया जा रहा है। दुकानदार उनको भगा रहे है तथा राशन नही दे रहे। उन्होंने मांग की है कि उनको प्रशासन और सरकार कम से कम राशन तो उपलब्ध करवाए जिसके वह पैसे तक देने को तैयार है।

इस मामले में युवा समाजसेवी जोगी ठाकुर कहा है कि जोगिंदर नगर प्रशासन लोगों को भगवान भरोसे छोड़ कर ना बैठे। प्रशासन लोगों को राशन और दूसरी आधारभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाए जिससे वह आराम से आइसोलेट हो सके। उन्होंने मांग करते हुए कहा कि सरकार जल्द से जल्द यहां स्वास्थ्य विभाग की टीम भेजे ताकि इलाके के लोगों का कोविड टेस्ट हो और बीमारों का ख्याल रखे।

इस मामले में जब हमने एसडीएम ऑफिस जोगिंदर नगर में कॉल करके बात करनी चाहिए तो बताया गया कि साहब बैठक में व्यस्त है और डीलिंग हैंड कानून गो ने भी हमारी कॉल नही उठाई।

error: Content is protected !!