अमेरिका की फ्लाइट में एक कोरोना वायरस पॉजिटिव शख्स का झूठ बोलकर यात्रा करना उस पर भारी पड़ा। दरअसल, इस व्यक्ति ने अपने कोरोना पॉजिटिव होने की बात छिपाई जिसकी वजह से फ्लाइट में ही उसकी मौत हो गई।

इस शख्स की पत्नी ने चिकित्सा सहायकों को बताया था कि पिछले एक हफ्ते से कुछ लक्षण दिख रहे थे। सूंघने और स्वाद की क्षमता भी चली गई थी। लेकिन महिला ने ये नहीं बताया कि उसके पति कोरोना से संक्रमित हैं। उसने सिर्फ इतना कहा कि वो लॉस एंजिल्स जाकर अपना कोरोना वायरस टेस्ट कराएंगे।

रिपोर्ट्स के अनुसार, फ्लाइट उड़ने से पहले इस शख्स को पसीना आ रहा था और ये बुरी तरह कांप रहा था। उसे सांस लेने में दिक्कत भी थी। उड़ान भरने के बाद इस व्यक्ति की हालात बिगड़ती चली गई। तबीयत इतनी खराब हो गई कि तुरंत न्यू ओरलिएन्स में विमान की इमरजेंसी लैंडिंग करानी पड़ी। इस बीच पैरामेडिक्स टीम में शामिल एक व्यक्ति ने शख्स को सीपीआर भी दिया।

इस व्यक्ति ने फ्लाइट में एक घंटे की यात्रा के बाद ही सांस लेना बंद कर दिया था। इसके बाद केबिन क्रू ने पैरामेडिक्स को बुलाया और इनमें से टोनी एल्डापा नाम के शख्स ने इस व्यक्ति को बचाने की कोशिश की। लेकिन इसका कोई फायदा नहीं हुआ और कोरोना की वजह से व्यक्ति की मौत हो गई।

By

error: Content is protected !!